रविवार, मई 26, 2024
होमख़ास खबरेंPM Modi: पीएम मोदी आज करेंगे अबू धाबी में पहले हिंदू मंदिर...

PM Modi: पीएम मोदी आज करेंगे अबू धाबी में पहले हिंदू मंदिर का उद्घाटन, जानें यूएई यात्रा का क्या है महत्व?

Date:

Related stories

Prajwal Revanna Case में बड़ा अपडेट! CM सिद्धारमैया ने PM Modi को पत्र लिख की ये मांग; देखें पूरी रिपोर्ट

Prajwal Revanna Case: कर्नाटक की हसन लोक सभा सीट से जनता दल (सेक्युलर) के सांसद प्रज्वल रेवन्ना (Prajwal Revanna) पर लगे यौन शोषण के आरोप वाले मामले में बड़ा अपडेट सामने आया है।

Iran President के निधन से पसरा मातम, PM Modi समेत कई नेताओं ने जताया शोक; जानें डिटेल

Iran President: ईरान के राष्ट्रपति डॉ. सैयद इब्राहिम रईसी का निधन हो गया है। दरअसल बीते दिन उनका हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसकी चपेट में आने से उनका निधन हो गया।

PM Modi: मंगलवार को दो दिवसीय यात्रा पर संयुक्त अरब अमीरात पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बीएपीएस मंदिर का उद्घाटन करेंगे, जो एक आश्चर्यजनक वास्तुशिल्प चमत्कार है। आपको बता दें कि यह अबू धाबी का पहला हिंदू मंदिर है। बीएपीएस सोसाइटी द्वारा अबू धाबी में निर्मित विशाल हिंदू मंदिर का अभिषेक PM Modi द्वारा उद्घाटन से पहले बुधवार को शुरू हुआ। 27 एकड़ भूमि पर निर्मित, यह अबू धाबी में पहला हिंदू पत्थर का मंदिर होगा।

क्या है मंदिर की खासियत?

●बोचासनवासी श्री अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्था (बीएपीएस) द्वारा निर्मित यह मंदिर 27 एकड़ जमीन में फैला हुआ है। वहीं मंदिर के अंदर विभिन्न देवताओं के मंदिर हैं।

●बता दें कि इस मंदिर में विशाल संरचना में 3000 लोगों को रखने की क्षमता वाला एक प्रार्थना कक्ष है, एक सामुदायिक केंद्र, एक प्रदर्शनी हॉल, एक पुस्तकालय, और एक बच्चों का पार्क भी है।

●मंदिर के अग्रभाग पर गुलाबी बलुआ पत्थर की पृष्ठभूमि पर सुंदर संगमरमर की नक्काशी है, जिसे राजस्थान और गुजरात के कुशल कारीगरों द्वारा 25000 से अधिक पत्थर के टुकड़ों से तैयार किया गया है। गौरतलब है कि  गुलाबी बलुआ पत्थर राजस्थान से मंगाया गया है।

●मंदिर स्थल में प्राचीन सभ्यताओं – माया, एज़्टेक, मिस्र, अरबी, यूरोपीय, चीनी और अफ़्रीकी की कहानियां हैं जो पत्थर में कैद हैं। संरचना पर ‘रामायण’ की कहानियां भी हैं।

●मंदिर में सात मंदिर हैं, जिनमें से प्रत्येक भारत के उत्तर, पूर्व, पश्चिम और दक्षिण भागों से आए विभिन्न देवताओं को समर्पित है।

●कार्बन पदचिह्न को कम करने के लिए, मंदिर के निर्माण में कंक्रीट मिश्रण में सीमेंट के एक महत्वपूर्ण हिस्से को बदलने के लिए फ्लाई ऐश को शामिल किया गया है।

●लगभग 150 सेंसर संरचना के तापमान, दबाव, तनाव और भूकंपीय घटनाओं की निगरानी करते हैं, जिससे मंदिर की सुरक्षा और दीर्घायु सुनिश्चित होती है।

PM Modi की UAE यात्रा का महत्व

PM Modi
PM Modi

संयुक्त अरब अमीरात के निवेश मंत्रालय ने हाल ही में भारत के साथ तीन MoU पर हस्ताक्षर किए है। ये MoU नवीकरणीय ऊर्जा, फूड प्रोसेसिंग और हेल्थकेयर सेक्टर में भारत की अर्थव्यवस्था का साथ देने के लिए यूएई को प्रतिबद्धता को दिखाता है। उनके सहयोग से भारतीय अर्थव्यवस्था, इस वित्तीय वर्ष में 7.3 प्रतिशत की बढ़ोतरी करेगी।

UAE में जल्द शुरू होगा UPI

PM Modi ने भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि डिजिटल इंडिया की प्रशंसा दुनियाभर में हो रही है। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में जल्द ही यूपीआई शुरू होने जा रहा है। इससे यूएई और भारत अकाउंट्स के बीच सीमलेस मूवमेंट संभव हो पाएगा। आप भारत में अपने परिवार के लोगों को और आसानी से पैसे भेज पाएंगे।

कैसे है दोनों देशों के व्यापारिक रिश्ते?

भारत यूएई के बीच 1970 से व्यापारिक रिश्ते है। लेकिन अप्रैल, 2022 में दोनों देशों के बीच वृहद आर्थिक साझेदारी समझौता(CEPA) हुआ। इससे 2022-23 में दोनों देशों के बीच व्यापार 85 अरब डॉलर तक पहुंच गया। बता दें कि अमेरिका और चीन के बाद यूएई भारत का तीसरा बड़ा व्यापारिक साझेदार है। अमेरिका के बाद भारत सबसे ज्यादा निर्यात UAE में करता है। 2022-23 में भारत में 3.5 अरब डॉलर के निवेश के साथ UAE चौथा सबसे बड़ा देश है।

भारत के लिए UAE क्यों अहम?

भारत 2027 तक अपनी अर्थव्यवस्था का आकार 5 ट्रिलियन डॉलर करना चाहता है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए उसे 2030 तक निर्यात को बढ़ाकर एक ट्रिलियन डॉलर तक ले जाने की आवश्यकता होगी। भारत-UAE के बीच हुआ CEPA समझौता इसमें अहम भूमिका निभा सकता है। UAE की आबादी का 35 प्रतिशत हिस्सा आप्रवासी भारतीय कामगारों का है, जो यहां की अर्थव्यवस्था की मजबूत रीढ़ माने जाते हैं। इस वजह से भी दोनों देशों के रिश्ते मजबूत हुए हैं। आपको बता दें कि ये PM Modi का 7वां UAE दौरा है। इससे पहले वह 2015, 2018, 2019, 2022 और 2023 में 2 बार UAE की यात्रा कर चुके हैं।

Latest stories