मंगलवार, जुलाई 23, 2024
होमख़ास खबरेंPunjab News: पंजाब में अब ड्रग्स तस्करों की खैर नहीं, मान सरकार...

Punjab News: पंजाब में अब ड्रग्स तस्करों की खैर नहीं, मान सरकार ने बनाया फूलप्रूफ प्लान; जानें डिटेल

Date:

Related stories

Punjab News: ‘मान सरकार’ का बड़ा कदम! वैकल्पिक फसल उगाने पर किसानों को मिलेंगे 17500 रुपये; जानें कैसे होगा फायदा?

Punjab News: पंजाब में मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व में सरकार लगातार कृषि सेक्टर की बेहतरी के लिए प्रयासरत नजर आ रही है। इसी क्रम में पराली जलाने वाले घटनाओं पर लगाम लगाने के साथ आधुनिक मशीनों का वितरण किया जा रहा है।

Punjab News: पंजाब में भगवंत मान सरकार के आने के बाद से ही खुद मुख्यमंत्री भगवंत मान ने नशे को लेकर बड़ी मुहीम छेड़ रखी है। इसी बीच पंजाब की सबसे बड़ी समस्या यानि नशे के मुद्दे पर सरकार ने अब पूरा प्लान तैयार कर लिया है जिसे पुलिस जल्द ही लागू करने जा रही है। आपको बता दें कि पहली बार इंटरनेशल बॉर्डर पर ड्रोन इमरजेंसी रिस्पांस सिस्टम बनाया जाएगा। सबसे खास बात यह है कि इसके तहत पुलिस विभाग 5 से 7 मिनट में एक्श लेंगे। गौरतलब है कि मान सरकार द्वारा नशा तस्करी को रोकने के लिए यह जरूरी कदम उठाए जा रहे है ताकि पंजाब को नशा मुक्त राज्य बनाया जा सेके।

कैसे काम करेगा ड्रान इमरजेंसी रिस्पांस सिस्टम

बता दें कि सबसे पहले उन प्वाइंटों की पहचान की जाएगी जहां पर ड्रोन से नशा गिराया जाता है। जानकारी के मुताबिक जिन प्वाइंट पर ड्रग्स गिराई जाती है वहां की सूची पहले से ही तैयार की जाएगी और ड्रोन इमरजेंसी रिस्पांस सिस्टम बनाया जाएगा। इसके तहत पुलिस बीएसएफ, एसटीएफ, एनसीबी मिलकर एक्शन लेंगे। इसके अलावा इंटरस्टेट ड्रग रूट की पहचान होगी तस्करों की लोकेशन पुलिस ट्रैक करेगी। साथ ही तस्करों के हॉट स्पॉट पकड़े जाएंगे। ड्रग्स बनाने सप्लाई करने वालों की निगरानी होगी लाइसेंस वाले स्टोरी की क्षमता की भी मॉनिटरिंग होगी। तस्करों की संपत्ति को जबत कर लिया जाएगा।

एक्शन प्लान में बनाए गए तीन चरण

पंजाब सरकार की ओर से नसे को रोकने के लिए बनाया गया ये एक्शन प्लान तीन चरणों में काम करेगा पहला चरण एन्फोर्समेंट जिसके तहत सख्ती कर गांवों से लोकर शहरों तक नशे की सप्लाई को रोका जाएगा। नशा तस्करों पर केस दर्ज किया जाएगा दूसरा चरण है डि-एडिक्शन का, इसके तहत नशे के आदि युवाओं को नशा छुड़ाने के लिए जागरूक किया जाएगा और नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया जाएगा। इसमें लोगों क्लबों और एनजीओ की अहम भूमिका रहेगी। तीसरा है रोकथाम इसके तहत हर गांवो में क्लिेज डिफेंस कमेटी बनेगा और इसके तहत लोगों को जागरूक किया जाएगा।

Latest stories