रविवार, मई 26, 2024
होमदेश & राज्यउत्तराखंडSubramanian Swamy ने बर्खास्त कर्मिंयों को बहाल करने के लिए CM Dhami...

Subramanian Swamy ने बर्खास्त कर्मिंयों को बहाल करने के लिए CM Dhami को लिखा पत्र , जानें पूरा मामला

Date:

Related stories

Char Dham Yatra 2024: यमुनोत्री-गंगोत्री धाम में रिकॉर्ड संख्या में पहुंचे भक्त, जानें क्या है प्रशासन की व्यवस्था?

Char Dham Yatra 2024: उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों में इन दिनों में भारी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं जिसको लेकर प्रशासन की ओर से सभी खास इंतजाम किए जा रहे हैं।

Char Dham Yatra 2024: सावधान! बिना रजिस्ट्रेशन चार धाम जाने वाले श्रद्धालुओं पर होगी कार्रवाई; जानें प्रशासन का पक्ष

Char Dham Yatra 2024: देश की चर्चित चार धाम यात्रा की शुरुआत होने के साथ ही प्रशासन के सामने चुनौतियां बढ़ती नजर आ रही है।

Char Dham Yatra 2024: पहाड़ों में बारिश के साथ बढ़ी ठंड! तीर्थयात्रियों के लिए जारी हुए अहम निर्देश; जानें डिटेल

Char Dham Yatra 2024: उत्तराखंड के पहाड़ी हिस्सों में इन दिनों बारिश दर्ज की जा रही है जिसके कारण मौसम सर्द नजर आ रहा है। बारिश के कारण मौसम में हुए बदलाव का असर अब चार धाम यात्रा के लिए पहुंचे श्रद्धालुओं पर भी देखने को मिल रहा है।

Char Dham Yatra 2024 को लेकर अलर्ट मोड पर प्रशासन, तीर्थयात्रियों के लिए जारी हुए अहम आदेश; जानें डिटेल

Char Dham Yatra 2024: उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों में इन दिनों खूब भीड़ जुट रही है। दरअसल राज्य के अलग-अलग इलाको में लोग चार धाम यात्रा में शामिल होने के लिए पहुंच रहे हैं।

Subramanian Swamy: पूर्व केंद्रीय कानूनमंत्री डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी (Dr.Subramanian Swamy) ने उत्तराखंड विधानसभा सचिवालय के 228 बर्खास्त कर्मचारियों की बहाली को लेकर सीएम पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) को एक पत्र लिखकर आग्रह किया है कि किसी सर्वदलीय बैठक या फिर किसी अन्य तरीके के साथ न्यायसंगत कार्रवाई कर बर्खास्त कर्मियों के साथ न्याय करें। डॉ स्वामी ने सीएम धामी को लिखे पत्र में कहा है कि राज्य में एक ही तरह से लगे अन्य कर्मचारियों के साथ भेदभाव क्यों?

जानें क्या था मामला

आपको बता दें विधानसभा अध्यक्ष के द्वारा 2016 के बाद से बैकडोर भर्ती प्रक्रिया के माध्यम से भर्ती हुए 228 विधानसभा कर्मियों को बर्खास्त कर दिया था। बाद में नैनीताल हाईकोर्ट की खंडपीठ ने भी विधानसभा सचिवालय के बर्खास्तगी के इस आदेश को सही ठहराया था। बर्खास्त कर्मचारी पिछले 2 महीने से विधानसभा के बाहर धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं और उनके साथ न्याय की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि जब 2001से लेकर 2015 तक भी एक ही भर्ती प्रक्रिया के जरिए अन्य भर्तियां की गई तब केवल 2016 के बाद भर्ती कर्मियों को ही क्यों बर्खास्त किया गया। ये तो एक ही राज्य में एक ही तरह से लगे कर्मियों के साथ अन्याय है।

ये भी पढ़ेंः CM Dhami ने नकल अध्यादेश किया मंजूर, पकड़े गए तो भुगतनी पड़ सकती है इतनी बड़ी सजा

डॉ स्वामी से लगाई थी गुहार

राज्य विधानसभा के बाहर 2 महीने से धरना दे रहे बर्खास्त कर्मियों का साथ देने के लिए सबसे पहले कांग्रेस नेता अनुकृति गुसाई ने प्रदर्शन को समर्थन दिया था। इसके साथ ही युवा कांग्रेस के अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर भी आंदोलन को समर्थन देने पहुंचे। विरोध की इसी कड़ी में बर्खास्त 228 कर्मियों ने पूर्व कानून मंत्री डॉ सुब्रमण्यम स्वामी को पत्र लिखकर उनसे न्याय दिलाने की गुहार लगाई थी। जिसको संज्ञान लेते हुए ही डॉ स्वामी ने सीएम धामी को पत्र लिख कहा कि मुझे भी लग रहा है कि कर्मचारियों के साथ भेदभावपूर्ण अन्याय हुआ है। एक ही राज्य में एक ही तरह से लगे कर्मियों के साथ भेदभाव है। आशा करता हूं कि सीएम कर्मियों को बहाल कर न्याय करेंगे।    

ये भी पढ़ेंः PM Modi के सपोर्ट में उतरे ब्रिटिश सांसद, बोले- प्रोपेगेंडा वीडियो और घटिया पत्रकारिता का उदाहरण है BBC Documentary

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।   

Hemant Vatsalya
Hemant Vatsalyahttp://www.dnpindiahindi.in
Hemant Vatsalya Sharma DNP INDIA HINDI में Senior Content Writer के रूप में December 2022 से सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने Guru Jambeshwar University of Science and Technology HIsar (Haryana) से M.A. Mass Communication की डिग्री प्राप्त की है। इसके साथ ही उन्होंने Delhi University के SGTB Khalasa College से Web Journalism का सर्टिफिकेट भी प्राप्त किया है। पिछले 13 वर्षों से मीडिया के क्षेत्र से जुड़े हैं।

Latest stories