सोमवार, जून 24, 2024
होमदेश & राज्यमोदी की गारंटी क्या विपक्ष पर पड़ रही है भारी? क्या Lok...

मोदी की गारंटी क्या विपक्ष पर पड़ रही है भारी? क्या Lok Sabha Election 2024 के लिए बीजेपी का रास्ता साफ; जानें डिटेल

Date:

Related stories

MP में Ujjwala Yojana बदल रही ग्रामीण इलाकों की तस्वीर! जानें कैसे लाखों महिलाओं तक पहुंच रहा सीधा लाभ?

MP News: मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री मोहन यादव के नेतृत्व में सभी सरकारी योजनाओं का लाभ ग्रामीण से लेकर शहरी इलाकों तक पहुंचाने का काम किया जा रहा है। इस क्रम में पीएम उज्जवला योजना का जिक्र सबसे ज्यादा है।

NEET 2024 पेपर लीक कांड पर Tejashwi Yadav का क्लीयर स्टैंड, BJP द्वारा लगाए आरोप को बताया बड़ी साजिश; देखें पूरी रिपोर्ट

NEET Result 2024: नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) 2024 परीक्षा परिणाम को लेकर देश के विभिन्न हिस्सों में घमासान का दौर जारी है।

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने अपनी तैयारी तेज कर दी है। Lok Sabha Election 2024 के पहले चरण के मतदान में महज कुछ ही दिन बाकी है। गौरतलब है कि पहले चरण का मतदान 19 अप्रैल 2024 को होगा। हालांकि विपक्ष भी कोई कसर नहीं छोड़ रहा है पीएम मोदी और भाजपा पर निशाना साधने में। आज हम इस लेख में बात करेंगे कि क्या मोदी की गारंटी पर विपक्ष पर पड़ रही है भारी? क्या बीजेपी का Lok Sabha Election 2024 में रास्ता साफ हो गया है। आईए बताते है सारी जानकारी विस्तार से।

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना

ऋषिकेश में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा ”देश में जब भी कमजोर और अस्थिर सरकार बनी है, दुश्मनों ने इसका फायदा उठाया है।
यहां आतंकवाद ने अपना जाल फैलाया। लेकिन मजबूत मोदी सरकार में आतंकवादियों को उनके घर में ही मारा जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि “भाजपा सरकार ने 6 दशकों के बाद जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया। यह भाजपा सरकार ही है जिसने तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाया, और यह भाजपा सरकार ही है जिसने महिलाओं को लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में आरक्षण दिया।”

क्या आर्टिकल-370, राम मंदिर से बीजेपी की जीत तय?

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा ने अपना घोषणा पत्र जारी किया था। उस घोषणा पत्र में जम्मू कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाने से लेकर राम मंदिर बनवाना, तीन तलाक के खिलाफ कानून लाना, सीएए , एनआरसी जैसी तमाम चीजों का जिक्र किया गया था। वहीं अगर आज उस घोषणा पत्र को उठाकर देखे तो घोषणा पत्र में किए गए लगभग सभी वादों को मोदी सरकार पूरा किया है। इस लोकसभा चुनाव में इन सभी चीजों को मोदी और बीजेपी जोरदार तरीके से रख रही है। वहीं कई विशेषज्ञों का मानना है कि इससे बीजेपी को काफी फायदा मिल सकता है।

मोदी ने विपक्ष को किया चारों खाने चित्त

आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए विपक्ष बीजेपी और पीएम मोदी पर हमला बोलने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। लेकिन इससे विपक्ष को फायदा मिलता नजर नहीं आ रहा है, अभी तक ओपिनियन पोल के यही नतीजे बता रहे है। वहीं कई विशेषज्ञों का मानना है कि विपक्ष के पास मोदी से लड़ने के लिए कोई ठोस मुद्दा नही है। इसके अलावा विपक्ष के पास पीएम मोदी जैसा कोई मजबूत चेहरा भी नहीं है।

मौदी मैजिक का क्या है कारण?

बीते 10 सालों आकंलन करे तो मोदी मैजिक कम नही हुआ। चलिए आपको बताते है कुछ बिंदु।

●पीएम मोदी का लंबे राजनीति करियर एक बड़ा कारण जो उन्हें राजनीति में पर्सनल टच देता है।

●पीएम मोदी को एक अच्छा वक्ता माना जाता है जो वोटरों का मूड समझते है।

●आस्था और विकास को एक साथ लेकर चलना।

●मेहनती नेता के तौर पर छवि मानी जाती है।

●अभी तक मोदी सरकार पर भ्रष्टाचार को लेकर कोई दाग नही है।

●मोदी सरकार द्वारा किसानों, महिलाओं , गरीबों को लिए लाभार्थी योजनांए।

●हिंदू राष्ट्रवादी की छवि।

●विश्व स्तर पर अपनी छाप छोड़ना।

●बड़े-बड़े मुद्दों को आसानी से हल करने के तौर पर जाने जाते है।

बीजेपी पर कपील सिब्बल ने बोला हमला

राज्यसभा सदस्य कपिल सिब्बल ने चुनावी बॉन्ड के मुद्दे पर केंद्र की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी चुनावी बॉन्ड के जरिए प्राप्त ‘अवैध धन’ से प्रचार कर रही है और जांच एजेंसियां सो रही हैं। कपिल सिब्बल ने कहा कि अगर बीजेपी के पास गया धन अवैध है, तो मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या उन्हें आयकर विभाग का कोई नोटिस मिला? मैं आयकर विभाग से पूछना चाहता हूं-क्या उसने बीजेपी को कोई नोटिस भेजा? मैं ईडी से पूछना चाहता हूं- क्या उसने कोई छापेमारी की?

प्रशांत किशोर ने विपक्ष की बढ़ाई टेंशन

राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर का मानना है कि आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा पूर्वौत्तर और दक्षिणी राज्यों में अपनी सीटों व मत प्रतिशत में बढ़ोतरी करेगी। उन्होंने आगे कहा कि पूरी उम्मीद है कि भाजपा बंगाल और ओडिशा में नंबर एक पार्टी होगी। यही नहीं तेलंगाना में भी वह पहले या दूसरे नंबर पर रहेगी। हालांकि अब देखना दिलचस्प होगा कि 4 जून को क्या तीसरी बार केंद्र में बीजेपी की सरकार आती है या फिर इंडिया गठबंधन इस चुनाव में कुछ बड़ा उलटफेर करती है।

Latest stories