शनिवार, अप्रैल 13, 2024
होमबिज़नेसग्लोबल बैंकिंग संकट के बीच Nirmala Sitharaman ने बैकों को दिया सतर्क...

ग्लोबल बैंकिंग संकट के बीच Nirmala Sitharaman ने बैकों को दिया सतर्क रहने का निर्देश, वित्तीय स्थिति का किया आकलन

Date:

Related stories

Budget 2024: क्या नई Tax व्यवस्था के तहत बढ़ सकती है छूट? लोगों की टिकीं Nirmala Sitaraman पर निगाहें

Budget 2024: 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अंतरिम बजट पेश करेंगी. नई इनकम टैक्स व्यवस्था के तहत टैक्स छूट की संभावना जताई जा रही हैं।

Indian Economy: FY25 में 7% की दर से बढ़ सकती है अर्थव्यवस्था! जानें 7 ट्रिलियन का सपना कब तक होगा पूरा

Indian Economy: भारत के साथ विश्व के अनेक प्रमुख देशों में विकास दर को मापने का एक पैमाना है जिसे सकल घरेलू उत्पाद (GDP) ग्रोथ की संज्ञा दी जाती है।

Nirmala Sitharaman: अमेरिका के सिलिकॉन वैली बैंक और सिग्नेचर बैंक के बंद होने के बाद दुनियाभर में वैश्विक बैंकिंग संकट मंडराने लगा है। ऐसे में भारत ने भी इस ग्लोबल संकट के खतरे के बीच अपनी तैयारी तेज कर दी है। इस संबंध में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने शनिवार को देश के सरकारी बैंकों के साथ एक अहम बैठक की। निर्मला सीतारमण ने बैठक के दौरान सभी सरकारी बैंकों की आर्थिक स्थिति का हाल जाना। साथ ही कई जरूरी दिशा-निर्देश भी जारी किए।

वित्त मंत्रालय ने बयान जारी ये कहा

दुनियाभर में बैंकिंग सेक्टर में उथल-पुथल का माहौल बना हुआ है। ऐसे में निर्मला सीतारमण ने देश के सरकारी बैंकों के प्रमुखों के साथ बैंकिंग संकट से बचने के लिए जरूरी हिदायतें दी। बैठक के बाद वित्त मंत्रालय ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि वित्त मंत्री ने सभी सरकारी बैंकों को ये निर्देश दिया है कि वे बैंकिंग सेक्टर के सभी खतरों का बेहतर ढंग से आंकलन करें। साथ ही अन्य आर्थिक मानकों को भी ठीक करने को कहा है। इसके अलावा सरकारी बैंकों से कहा है कि वे उन अहम बिंदुओं की पहचान करें जो आने वाले समय में बैंकिंग सेक्टर के लिए परेशानी बढ़ा सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः Hindenburg Research में Amrita Ahuja पर लगे गंभीर आरोप, जानें कौन हैं और भारत से क्या है कनेक्शन

बैंकों को उचित सावधानी बरतनी होगी- निर्मला सीतारमण

ग्लोबल बैंकिंग सेक्टर के बीच निर्मला सीतारमण ने कहा कि बैंकों को कर्ज दरों में जोखिम के बारे में सचेत करते हुए कहा कि इसमें बैंकों को उचित सावधानी बरतनी होगी। साथ ही जमा और परिसंपत्ति के आधार पर नियामक ढांचे का पालन करना होगा। शनिवार को दो घंटे तक चली इस बैठक में निर्मला सीतारमण ने सिलिकॉन वैली बैंक और सिग्नेचर बैंक के डूबने के साथ ही क्रेडिट सुइस पर भी गंभीर चर्चा की।

बैंक प्रमुखों ने वित्त मंत्री से क्या कहा

वहीं, सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों के प्रमुखों ने वित्त मंत्री से कहा कि वे उच्चतम कॉरपोरेट प्रथाओं और नियामक मापदंडों का पालन करते हैं। बैंक प्रमुखों ने बताया कि वे वैश्विक बैंकिंग क्षेत्र में हो रहे परिवर्तनों को ध्यान में रख रहे हैं। साथ ही खुद को किसी भी आर्थिक झटके से बचाने के लिए तैयारी कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: Fake Identity: इस तरह से नहीं खरीद पाएंगे सिम, वॉट्सऐप, टेलीग्राम पर दी फर्जी पहचान तो होगी जेल

Amit Mahajan
Amit Mahajanhttps://www.dnpindiahindi.in
अमित महाजन DNP India Hindi में कंटेंट राइटर की पोस्ट पर काम कर रहे हैं.अमित ने सिंघानिया विश्वविद्यालय से जर्नलिज्म में डिप्लोमा किया है. DNP India Hindi में वह राजनीति, बिजनेस, ऑटो और टेक बीट पर काफी समय से लिख रहे हैं. वह 3 सालों से कंटेंट की फील्ड में काम कर रहे हैं.

Latest stories