विज्ञापन
होमदेश & राज्यChina Map Row: नए विवादित नक्शे पर पूर्व सेना प्रमुख Manoj Naravane...

China Map Row: नए विवादित नक्शे पर पूर्व सेना प्रमुख Manoj Naravane ने चीन को दिखाया आइना, कब्जाए गए इलाकों को अलग से दिखाया

China Map Row: अरुणाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों और अक्साई चिन पर दावा पेश करते हुए चीन ने 28 अगस्त को नक्शा पेश किया था, जिस पर भारत सरकार ने कड़ी आपत्ति जताई थी। अब इस पर पूर्व सेना प्रमुख मनोज नरवणे ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

Manoj Naravane: चीन के विवादित नक्शे (China controversial Map) पर चल रही बहस में अब पूर्व सेना प्रमुख मनोज नरवणे की एंट्री भी हो गई है। मंगलवार (12 सितंबर) को उन्होंने चीन के नक्शा का एक फोटो शेयर कर उसे आइना दिखाया है। उन्होंने दावा किया है की यह चीन का असली नक्शा है। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक पोस्ट के जरिए ये मैप साझा किया है।

इस मानचित्र में तिब्बत, ग्रीस, ताइवान, हांगकांग और चीन की सीमा से लगे देशों पर चीन के कब्जे को दर्शाया गया है। उन्होंने यह नक्शा ऐसे समय जारी किया है जब देश चीन के नये मानचित्र के प्रकाशन पर भड़का हुआ है। चीन ने हाल ही में जोनया नक्शा जारी किया था, उसमें भारत और ताइवान के कई क्षेत्रों को चीन ने अपने हिस्से में दिखाया था। जिसका भारत सहित कई देशों ने कड़ा विरोध किया था।

पूर्व सेना प्रमुख ने चीन को दिखाया आइना

अब पूर्व सेना प्रमुख नरवणे ने चीन के नक्शे की फोटो शेयर किया है। एक्स पर एक पोस्ट कर उन्होंने लिखा, ‘आखिरकार किसी को चीन का असली नक्शा मिल गया।’ नरवणे द्वारा शेयर किए गए इस मैप में चीन को ग्रीस (सीओटी), पूर्वी तुर्किस्तान (सीओईटी), हांगकांग (सीओएचके), तिब्बत (सीओटी), दक्षिण मंगोलिया (सीओएसएम), तिब्बत (सीओटी), और मंचूरिया (सीओएम) पर नियंत्रण के रूप में दर्शाया गया है। जिसका सीधा अर्थ यह है कि चीन ने इन क्षेत्रों पर कब्जा कर रखा है। इस मैप में ताइवान को चीन गणराज्य ताइवान के रूप में पेश किया गया है। चीन हमेशा से अपने पड़ोसी देशों के क्षेत्रों पर अपना दावा करता रहा है। भारत के अरुणाचल प्रदेश और अक्साई चिन पर भी चीन अपना दावा पेश करता है।

विवादित नक्शे का कई देशों ने किया विरोध

बता दें चीन ने 28 अगस्त को अपना एक नया विवादित नक्शा जारी किया था, जिस पर कई देशों ने आपत्ति जताई थी। भारत के विरोध के बाद फिलीपीन्स, मलेशिया, वियतनाम और ताइवान जैसे देशों में भी इस नक्शे का विरोध किया था। इन देशों का कहना है की चीन पहले भी अपनी विस्तवावादी नीति के चलते ऐसी हरकतें करता आया है, लेकिन हम चीन की इस नीति का कड़ा विरोध करते हैं। सभी देशों ने चीन को कड़े शब्दों में चेतावनी दी है। चीन ने भारत समेत कई देशों के हिस्सों को अपने क्षेत्र में दिखाया है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

follow-us-on-google-news-banner-black
- Advertisement -

देश

टेक

- Advertisement -

ऑटो

- Advertisement -