रविवार, मई 26, 2024
होमख़ास खबरेंहैकर्स के निशाने पर आ रहे RailYatri App यूजर्स , डार्क वेब...

हैकर्स के निशाने पर आ रहे RailYatri App यूजर्स , डार्क वेब पर बिक रहा करोड़ों का डाटा

Date:

Related stories

RailYatri App: अगर आप रेलयात्री ऐप का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं क्योंकि साइबर हैकरों ने रेलयात्री ऐप को अपना निशाना बनाया है। दरअसल हैकर्स ने रेलयात्री ऐप के यूजर्स का डेटा चुरा लिया है। इसमें यूजर्स के नाम, ई-मेल आईडी, लोकेशन, उनके फोन नंबर जैसी बहुत सी जानकारियां शामिल है। हैकर्स ने इस डेटा को डार्क वेब पर बिक्री के लिए रखा है जहां से इस बात की जानकारी मिली है। इस बात का पता लगते ही अफरा-तफरी मच गई और साइबर पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

ये भी पढ़ें: Swara और Fahad की शादी की पार्टी से पहले मचा घमासान, छात्र नेता की चेतावनी- ‘टुकड़े टुकड़े गैंग को AMU में घुसने नहीं देंगे’

क्या है रेलयात्री ऐप

बता दें कि रेलयात्री ऐप (IRCTC) यानी भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम का ऑफिशियल ऐप है। इस ऐप के जरिए यूजर्स टिकट बुक कर सकते हैं। इसके साथ ही पीएनआर चेक करने और भारत में कहीं भी ट्रेन यात्रा से संबंधित कई और तरह की जानकारी ली जा सकती है। रेलयात्री ऐप को अब तक 5 करोड़ से ज्यादा यूजर्स ने डाउनलोड किया है।

बिक्री के लिए ब्रीच्ड फोरम पर रखा गया इतना डेटा

खबरों की मानें तो रेलयात्री के ऐप से लगभग 3.1 करोड़ डेटा प्वॉइंट का एक सेट बिक्री के लिए ब्रीच्ड फोरम पर रखा गया है। इस बात की जानकारी यूनिट82 के रूप में पहचाने गएएक हैकर ने एक पोस्ट के जरिए दी थी। साथ ही यूनिट82 ने एक लिंक भी शेयर किया है जहां से इस डाटा को खरीदने के लिए उनसे संपर्क किया जा सकता है। हालांकि अभी तक डेटा लीक के बारे में कोई आधिकारिक रिपोर्ट नहीं आई है। डेटा लीक की खबरें फैली हुई हैं जिनपे गौर किया जा रहा है।

कितना है डाटा

खबरों की मानें तो डेटा को ब्रीच्ड फोरम पर बिक्री के लिए रखा गया है। इसमें कुल 3 करोड़, 10 लाख, 62 हजार, 673 डेटा प्वॉइंट हैं। यह पूरा डेटा तकरीबन 12.33 गीगाबाइट है। इस फोरम के बायों में लिखा है कि यूनिट 82 इजराइल में है और 6 अगस्त 2022 से ब्रीच्ड फोरम का सदस्य है।

पत्रकारों के लिए यह है रियायती रकम

खबरों की मानें तो HT ने रविवार को यूनिट 82 से संपर्क किया था और इस डेटा को खरीदने का मन बताया था तो यूनिट82 की तरफ से इस डाटा को 300 डॉलर में बेचने की पेशकश की गई थी। वहीं यूनिट82 का यह भी कहना था कि यह रियायती मूल्य है जो केवल पत्रकारों के लिए है।

Also Read: भारत में George Soros के निशाने पर PM Modi, लोकतांत्रिक ढांचे पर वार करने की बात को लेकर कांग्रेस ने भी लगाई लताड़

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।   

Latest stories