बुधवार, जुलाई 17, 2024
होमहेल्थइन लक्षणों से करें HIV एड्स की पहचान, जानें बचाव के आसान...

इन लक्षणों से करें HIV एड्स की पहचान, जानें बचाव के आसान उपाय

Date:

Related stories

Tripura HIV Case: त्रिपुरा में कैसे हुआ एचआईवी का प्रसार? AIDS कंट्रोल सोसायटी ने किया बड़ा खुलासा; रिपोर्ट देख होगी हैरानी

Tripura HIV Case: देश के उत्तर-पूर्वी राज्य त्रिपुरा से जुड़ा एक मामला तेजी से इन दिनों वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर चल रहे ट्रेंड के मुताबिक त्रिपुरा में विभिन्न कॉलेजों के 828 छात्र ह्यूमन इम्यूनो डेफिशियेंसी वायरस (HIV) से पीड़ित हैं।

HIV: हाल में एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई थी। इस खबर में बताया गया कि, त्रिपुरा में एचआईवी के चलते 47 छात्रों की मृत्यु हो गई है, यही नहीं अब तक 800 से ज्यादा छात्र एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं। यह बीमारी काफी ज्यादा खतरनाक है, जो काफी तेजी से फैलती है। चलिए जानते हैं आप इस बीमारी से खुदको कैसे बचा सकते हैं।

क्या होता है HIV?

एचआईवी यानी “ह्यूमन इम्यूनोडेफिशिएंसी वायरस” एक तरह का खतरनाक वायरस है, जो इससे ग्रस्त लोगों के संपर्क में आने से फैलता है। यह वायरस हमारे शरीर की कई कोशिकाओं को नष्ट कर देता है। यहीं बता दें यह बीमारी ज्यादातर योन संपर्क बनाने या एक दूसरे की सिरिंज का इस्तेमाल करने से फैलती है।

इन लक्षणों से करें एचआईवी एड्स की पहचान

. एचआईवी एड्स के कारण अक्सर लोगों को गर्मी में भी तेज ठंड लगने लगती है।

. बार-बार बुखार आना या बुखार का उतरना-चढ़ना भी एचआईवी एड्स का एक अहम लक्षण होता है।

. अगर किसी व्यक्ति के शरीर पर लाल चकत्ते पड़ते हैं तो, उन्हें सावधान हो जाना चाहिए। शरीर पर लाल चकत्ते पड़ना एचआईवी एड्स का लक्षण हो सकता है।

. गर्दन में सुजन पड़ना या आपके गरदन का साइज़ बढ़ना भी एचआईवी एड्स का एक कारण हो सकता है।

. एचआईवी एड्स के चलते अक्सर लोगों को मुंह में पड़ रहे छालों की दिक्कत हो जाती है।

ये हैं एचआईवी से बचने के उपाय

. अगर आप एचआईवी एड्स से ग्रस्त नहीं होना चाहते तो, आपको योन संबंध बनाते समय कंडोम का इस्तेमाल करना चाहिए।

. कई लोग अपने शेविंग रेजर को दूसरों के साथ शेयर करते हैं लेकिन, आपको ऐसा नहीं करना चाहिए। शेविंग रेजर या सिरिंज में ब्लड लगा हुआ होता है जिससे, आपको यह चीजें दूसरों से शेयर नहीं करनी चाहिए।

. अगर आपको यह सभी लक्षण दिखते हैं तो, आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। ऐसा करने से आपका इलाज समय रहते ही हो जाएगा।

. समय-समय पर आपको एचआईवी एड्स का टेस्ट करवाते रहना चाहिए। क्योंकि कई बार लोगों को इस बीमारी का पता लास्ट स्टेज पर चलता है। अगर आप समय-समय पर इसका टेस्ट करवाते रहेंगे तो, आपको आगे चलकर किसी तरह की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Naaz Parveen
Naaz Parveenhttp://www.dnpindiahindi.in
नाज़ परवीन डीएनपी इंडिया हिंदी में एंटरटेनमेंट, लाइफस्टाइल, फैशन और हेल्थ केटेगरी पर लिखती हैं। इन्होनें अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई दिल्ली यूनिवर्सिटी से पूर्ण की है। ये कई प्रतिष्ठित संस्थानों के लिए अपनी सेवाएं दे चुकी हैं। अब पिछले कुछ समय से डीएनपी इंडिया न्यूज़ नेटवर्क के माध्यम से कई महत्वपूर्ण खबरें लोगों तक पहुंचा रही हैं।

Latest stories