मंगलवार, मई 28, 2024
होमख़ास खबरेंMDH Everest Spices: एमडीएच और एवरेस्ट के मसालों पर टूटी आफत, कैंसर...

MDH Everest Spices: एमडीएच और एवरेस्ट के मसालों पर टूटी आफत, कैंसर के खौफ से इन दो देशों ने किया बैन

Date:

Related stories

MDH Everest Spice: भारत की मसाला कंपनी MDH और Everest को बड़ा झटका लग गया है। मसालों में कैंसर को पैदा करने वाले तत्व पाए जाने के बाद सिंगापुर और हांगकांग की सरकार ने इनके कुछ मसालों को बैन कर दिया है। इन दोनों ही देसी कंपनियों के लिए ये एक बड़ा झटका है।

MDH के मद्रास करी पाउडर, सांभर मसाला पाउडर और करी पाउडर को बैन किया गया है। वहीं एवरेस्ट के फिश करी मसाला पर एक्शन लिया गया है। इन चारों मसालों को सिंगापुर और हांगकांग ने बैन लगा दिया है।

MDH और Everest Spice पर लगा क्यों लगा बैन?

इन मसालों में कार्सिनोजेनिक पेस्टिसाइड एथिलीन ऑक्साइड की मात्रा बहुत ज्यादा पाई गई है। अंतरराष्ट्रीय कैंसर अनुसंधान संस्था ने एथिलीन ऑक्साइड को कैंसर जनक के रुपए में घोषित किया हुआ है। उसके बाद भी इन मसालों में इसकी मात्रा काफी ज्यादा पाई गई।

हांगकांग के खाद्य सुरक्षा केंद्र ने इन मसालों के नमूने लिए थे। जिसके बाद इनकी जांच कराई गई थी। जांच में ये मसाले फेल हो गए। हांगकंग की इस रिपोर्ट के बाद ही सिंगापुर ने भी एवरेस्ट के फिश करी मसाले को बैन लगा दिया है।

सिंगापुर ने बयान किया जारी

इस फैसले के बाद सिंगापुर खाद्य एजेंसी ने बयान जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि, “एथिलीन ऑक्साइड के निम्न स्तर के सेवन से तत्काल कोई खतरा नहीं है, लेकिन लंबे समय तक इसके सेवन से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। जिन उपभोक्ताओं ने संबंधित उत्पादों को खरीदा है, उन्हें इसका सेवन न करने की सलाह दी जाती है।”

एवरेस्ट और MDH भारत की दो बड़ी मसाला कंपनी हैं। इन पर एक्शन होने के बाद कंपनियों को काफी नुकसान हो सकता है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Aarohi
Aarohihttps://www.dnpindiahindi.in/
आरोही डीएनपी इंडिया में मनी, देश, राजनीति , सहित कई कैटेगिरी पर लिखती हैं। लेकिन कुछ समय से आरोही अपनी विशेष रूचि के चलते ओटो और टेक जैसे महत्वपूर्ण विषयों की जानकारी लोगों तक पहुंचा रही हैं, इन्होंने अपनी पत्रकारिका की पढ़ाई पीटीयू यूनिवर्सिटी से पूर्ण की है और लंबे समय से अलग-अलग विषयों की महत्वपूर्ण खबरें लोगों तक पहुंचा रही हैं।

Latest stories