बुधवार, मई 29, 2024
होमदेश & राज्यदिल्लीManish Sisodia के मंत्री पद से Resignation को लेकर खड़े हुए सवाल,...

Manish Sisodia के मंत्री पद से Resignation को लेकर खड़े हुए सवाल, जानें क्या है इसकी असल वजह

Date:

Related stories

Punjab News: लुधियाना पहुंचे AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल, मोहल्ला क्लिनिक व बढ़ते उद्यम को लेकर किए कई ऐलान; जानें डिटेल

Punjab News: उत्तर भारत के प्रमुख कृषि प्रधान राज्यों में से एक पंजाब में लोक सभा चुनाव के 7वें चरण के दौरान 1 जून को मतदान होना है।

Republic Day 2024: बीटिंग रिट्रीट समारोह में Vijay Chowk पर गूंजेंगी स्वदेशी धुन, जानें क्या है खास तैयारी

Republic Day 2024: वर्ष 2024 का गणतंत्र दिवस देश के लिए बेहद खास रहा है। इस गणतंत्र दिवस के अवसर पर सेना के जवानों द्वारा कर्तव्य पथ पर भव्य परेड आयोजन देखने को मिले। इस परेड की खास बात नारी शक्ति थीम रही जिसके तहत दुनिया के समक्ष भारतीय नारी शक्ति परंपरा का प्रदर्शन किया गया।

Republic Day 2024: PM Modi व Emmanuel Macron ने प्रेषित की शुभकामनाएं, जानें परेड से जुड़े अपडेट

Republic Day 2024: देश के विभिन्न हिस्सों में आज 75वें गणतंत्र दिवस की धूम है। सभी सरकारी कार्यालयों से लेकर निजी उपक्रमों द्वारा गणतंत्र दिवस (Republic Day 2024) के इस मौके पर खास आयोजन किया गया है।

Manish Sisodia Resignation: दिल्ली सरकार के दो कद्दावर मंत्रियों के इस्तीफे हो गए हैं। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया तथा स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन के इस्तीफे की घोषणा खुद सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal)ने 28 फरवरी 2023 को की थी। अब जब इन दोनों इस्तीफों को उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने मंजूरी के लिए राष्ट्रपति के पास भेज दिए गए हैं। तब मनीष सिसोदिया के इस्तीफे को लेकर सवाल खड़ा हो गया है। जहां सतेंद्र जैन के इस्तीफे पर हस्ताक्षर सहित 27 फरवरी की तारीख अंकित है। वहीं मनीष सिसोदिया के इस्तीफे पर हस्ताक्षर तो हैं किन्तु तारीख अंकित नहीं है ।

सिसोदिया के इस्तीफे को लेकर सवाल

आपको बता दें दोनों मंत्रियों सिसोदिया तथा सतेंद्र जैन का इस्तीफा 28 फरवरी को सीएम केजरीवाल की  तरफ से उपराज्यपाल  सक्सेना को भेजे गए थे। जिन्हें राज्यपाल ने अंतिम मंजूरी के लिए राष्ट्रपति को भेज दिया गया था। जहां पता चला कि सिसोदिया के इस्तीफे पर हस्ताक्षर के साथ तारीख अंकित नहीं की गई है। चूंकि सिसोदिया के द्वारा दिए गए इस्तीफे को टाइप किया गया था। जिस पर उनके हस्ताक्षर तो हैं लेकिन तारीख नहीं है। इसी कारण उनके इस्तीफे पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

ये भी पढ़ें: JNU Campus में धरना-प्रदर्शन और हिंसा करने वालों की अब खैर नहीं, नए नियम के तहत भरना पड़ेगा भारी जुर्माना

केजरीवाल ने की विधायकों-पार्षदों संग बैठक

पार्टी के दो महत्वपूर्ण नेताओं के इस्तीफे के बाद बदली परिस्थितियों में सीएम केजरीवाल ने अपने विधायकों- पार्षदों के साथ एक बैठक की। बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा कि हमारे दो वरिष्ठ मंत्रियों को बीजेपी शासित केंद्र सरकार ने झूठे केसों में फंसाकर जेल में डाल दिया है। जहां सिसोदिया ने दिल्ली के स्कूलों का कायाकल्प करके दिखाया, वहीं सतेंद्र जैन ने दुनिया को मोहल्ला क्लीनिक का मॉडल दिया है। अब से AAP के कार्यकर्ता सिसोदिया की शराब नीति मामले में गिरफ्तारी के विरोध में घर-घर जाकर अभियान चलाएंगे और बताएंगे कि किस तरह झूठे केस में फंसाया है।  सीएम केजरीवाल ने आज के राजनीतिक हालातों की तुलना इंदिरा गांधी के आपातकाल से करते हुए कहा कि केंद्र की कार्यशैली को लोगों को इस अभियान के माध्यम से बताएगी कि कैसे दुराग्रह से केंद्र सरकार काम कर रही है।

ये भी पढ़ें: Delhi Liquor Scam: सुप्रीम कोर्ट से भी नहीं मिली सिसोदिया को राहत, CJI बोले- जमानत के लिए हाईकोर्ट जाएं

Hemant Vatsalya
Hemant Vatsalyahttp://www.dnpindiahindi.in
Hemant Vatsalya Sharma DNP INDIA HINDI में Senior Content Writer के रूप में December 2022 से सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने Guru Jambeshwar University of Science and Technology HIsar (Haryana) से M.A. Mass Communication की डिग्री प्राप्त की है। इसके साथ ही उन्होंने Delhi University के SGTB Khalasa College से Web Journalism का सर्टिफिकेट भी प्राप्त किया है। पिछले 13 वर्षों से मीडिया के क्षेत्र से जुड़े हैं।

Latest stories