panchang

Aaj Ka Panchang 17 March: हिंदू धर्म में पंचांग का विशेष महत्व है। सभी शुभ कामों को पंचांग में देखकर शुभ मुहूर्त के हिसाब से किया जाता है। पंचांग में सभी ग्रह नक्षत्र, तिथि, योग, मुहूर्त के विषय में जानकारी दी जाती है। इसलिए प्रतिदिन ग्रहों के परिवर्तन से पंचांग पर प्रभाव पड़ता है। तो आइए जानते हैं, शुक्रवार के दिन क्या कहता है पंचांग और कौन-कौन से बन रहे हैं शुभ मुहूर्त।

जानें आज की तिथि

आज की तारीख 17 मार्च 2023 है और आज का दिन शुक्रवार है। वहीं तिथि फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की दसवीं तिथि है। आज का दिन उत्तराषाढा नक्षत्र का है

जानें आज का पंचांग

आज की तिथि दशवीं तिथि है जो शाम 17 बजकर 42 मिनट तक रहेगी।

वहीं पूर्वाषाढा नक्षत्र रात 04 बजकर 47 मिनट तक रहने वाली है।

आज कर्ण में गर शाम 17 बजकर 42 मिनट तक रहेगा। वहीं वाणिज रात 23 बजकर 29 मिनट तक रहने वाला है।

आज का दिन कृष्ण पक्ष है।

व्यतिपात योग दिन 10 बजकर 05 मिनट तक रहेगा।

आज का दिन शुक्रवार है।

जानें सूर्योदय और सूर्यास्त का समय

आज का सूर्योदय सुबह 6 बजकर 29 मिनट तक होने वाला है।

आज का सूर्यास्त शाम 18 बजकर 30 मिनट तक होगा।

चंद्रोदय का समय रात्रि 03 बजकर 11 मिनट है।

चंद्रास्त का समय दोपहर 13 बजकर 37 मिनट है।

वसंत ऋतु का समय है।

जानें आज का शुभ मुहूर्त

आज के एक दुष्ट मुहूर्त की शुरुआत सुबह 08 बजकर 53 मिनट से हो रही है। वहीं इसका समापन 09 बजकर 41 मिनट पर होगा। वहीं दूसरे दुष्ट मुहूर्त की शुरुआत दिन 12 बजकर 53 मिनट से हो रही है। वहीं इसका समापन दिन 13 बजकर 41 मिनट पर होगा।

कुलिक मुहूर्त की शुरुआत सुबह 08 बजकर 53 मिनट पर होगी। वहीं इसका समापन 09 बजकर 41 मिनट पर होगा।

कंटक मुहूर्त की शुरुआत दिन 13 बजकर 41 मिनट से होगी। वहीं इसका समापन दिन 14 बजकर 30 मिनट पर होगा।

राहुकाल का समय दोपहर 10 बजकर 59 मिनट से 12 बजकर 29 मिनट तक तय किया गया है।

कालवेला का समय दोपहर 15 बजकर 18 मिनट से शाम 16 बजकर 06 मिनट तक तय किया गया है।

यमघण्ट का समय सुबह 15 बजकर 30 मिनट से 10 बजकर 00 मिनट तक तय किया गया है।

गुलिक काल का समय सुबह 7 बजकर 59 मिनट से 9 बजकर 29 मिनट तक है।

ये भी पढ़ें: Shani Asta: शनिदेव के अस्त होने पर भूलकर भी न करें ये गलती, भुगतना पड़ सकता है गंभीर परिणाम

जानें शुक्रवार का क्या है शुभ मुहूर्त

आज यानी शुक्रवार के दिन अभिजीत मुहूर्त 12 बजकर 05 मिनट से 12 बजकर 53 मिनट तक है। इस मुहूर्त किसी भी शुभ कार्य के लिए बेहद खास है।

आज का दिशा शूल पश्चिम है।

जानें क्या है चंद्रबल और ताराबल

आज का ताराबल सेयेष्ठा, पूर्वाषाढ़ा, श्रवण, धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, पूर्वा फाल्गुनी, उत्तरा फाल्गुनी और रेवती है।

आज का चंद्रबल मिथुन, कर्क, तुला, धनु, कुंभ और मीन है।

मेरा नाम श्रीया श्री है। मैं पत्रकारिता अंतिम वर्ष की छात्रा हूं। मुझे लिखना...