शनिवार, मई 25, 2024
होमदेश & राज्यदिल्लीLok Sabha Election: 2019 में आर्टिकल 370 और राम मंदिर, 2024 में...

Lok Sabha Election: 2019 में आर्टिकल 370 और राम मंदिर, 2024 में UCC aur ONOE, क्या बीजेपी के मैनिफेस्टो के बाद 2029 की सफलता तय है

Date:

Related stories

Delhi News: चुनावी रण के लिए तैयार है राजधानी, शराब की दुकान समेत इन प्रतिष्ठानों पर लगेगा ताला? जानें डिटेल

Delhi News: देश की राजधानी दिल्ली चुनावी रम के लिए तैयार है। बता दें कि दिल्ली की सभी 7 लोक सभा सीटों पर 25 मई यानी शनिवार को मतदान होना है।

Delhi News: मतदान बढ़ाने के लिए अनूठी पहल, दिल्ली के ये रेस्तरां वोटर्स को देंगे 25 फीसदी तक छूट; बस करना होगा ये काम

Delhi News: लोक सभा चुनाव 2024 के अलग-अलग चरणों में मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए तरह-तरह के तरकीब आजमाएं जा रहे हैं। इसी क्रम में राजधानी दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में स्थित एक रेस्तरां भी खूब सुर्खियों में है।

Prajwal Revanna Case में बड़ा अपडेट! CM सिद्धारमैया ने PM Modi को पत्र लिख की ये मांग; देखें पूरी रिपोर्ट

Prajwal Revanna Case: कर्नाटक की हसन लोक सभा सीट से जनता दल (सेक्युलर) के सांसद प्रज्वल रेवन्ना (Prajwal Revanna) पर लगे यौन शोषण के आरोप वाले मामले में बड़ा अपडेट सामने आया है।

Lok Sabha Election: बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए 14 अप्रैल 2024 को अपना संकल्प पत्र जारी कर दिया है। बता दें कि इस दौरान पीएम मोदी समेत बीजेपी के कई अन्य बड़े नेता मौजूद थे। गौरतलब है कि इस संकल्प पत्र में बीजेपी ने सभी वर्गों को साधने की कोशिश की है। इससे पहले कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और आरजेडी ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है।

इस संकल्प पत्र में दो चीजों की बहुत ज्यादा चर्चा हो रही है वह है यूनिफॉर्म सिविल कोड और एक राष्ट्रीय एक चुनाव। वहीं कई राजनीतिक पंडितों का मानना है, कि 2019 की तरह ही बीजेपी को एक बार लोकसभा चुनाव 2024 में फायदा मिल सकता है। क्योकि सालों से देश के लोग यूनिफार्म सिविल कोड का मांग कर रहे थे। आइए इस लेख की मदद से समझते है कि 2019 के संकल्प पत्र में बीजेपी ने राम मंदिर और आर्टिकल-370 का जिक्र किया था। इसी का नतीजा था कि 2019 में बीजेपी को बंपर जीत मिली थी। वहीं सबसे बड़ा सवाल है कि क्या 2024 में भी इस संकल्प पत्र से बीजेपी को फायदा मिलेगा? क्या UCC और वन नेशन वन इलेक्शन से 2024 में बीजेपी को फायदा हो सकता है।

पीएम मोदी ने संकल्प पत्र के बाद क्या कहा?

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी के संकल्प पत्र के जारी होने पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, “पूरा देश बीजेपी के ‘संकल्प पत्र’ का इंतजार करता है। इसके पीछे एक बड़ा कारण है, जैसा कि पिछले 10 वर्षों में हुआ था। भाजपा ने अपने संकल्प पत्र के हर बिंदु को जमीन पर गारंटी के रूप में लागू किया है। यह ‘संकल्प पत्र’ विकसित भारत के सभी 4 मजबूत स्तंभों- युवा, महिला, गरीब और किसान को सशक्त बनाता है”।

संकल्प पत्र की कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

●संकल्प पत्र’ विकसित भारत के सभी 4 मजबूत स्तंभों- युवा, महिला, गरीब और किसान को सशक्त बनाता है।

●70 वर्ष से अधिक उम्र के प्रत्येक व्यक्ति को आयुष्मान भारत योजना के दायरे में लाया जाएगा। “

●करोड़ों परिवारों का बिजली बिल शून्य करने और बिजली से कमाई के अवसर पैदा करने की दिशा में काम करेंगे।

●बीजेपी ने ट्रांसजेंडर समुदाय को भी आयुष्मान भारत योजना के दायरे में लाने का फैसला किया है।

●मुफ्त राशन योजना अगले 5 साल तक जारी रहेगी।

●गरीबों को 3 करोड़ घर दिया जाएगा।

●मुद्रा लोन के तहत लोन की सीमा 20 लाख रूपये की जाएगी।

●वन नेशन वन इलेक्शन लागू करेंगे।

●पेपर लीक नियंत्रण कानून लाएंगे।

●पूरे देश में यूनिफार्म सिविल कोड लागू करेंगे।

क्या UCC और वन नेशन वन इलेक्शन से बीजेपी जीतेगी 2024 का रण?

गौरतलब है कि पूरे संकल्प पत्र में 2 चीजों की काफी चर्चा हो रही है।
एक यूनिफॉर्म सिविल कोड और दूसरा वन नेशन वन इलेक्शन। बता दें कि इन दोनों की मांग काफी समय से की जा रही है, बीजेपी के इस संकल्प पत्र के बाद से उम्मीद जताई जा रही है कि इससे बीजेपी को लोकसभा चुनाव में फायदा मिल सकता है। राजनीतिक पंडितों का ऐसा इसलिए मानना है कि अगर 2019 के लोकसभा का संकल्प पत्र देखा जाए तो बीजेपी ने अपने लगभग सारे काम को पूरा किया है जिससे जनता के बीच उनका भरोसा और बढ़ गया है।

गौरतलब है कि सालों से चला आ रहा राम मंदिर विवाद सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बीजेपी सरकार ने महज 4 साल में मंदिर का निर्माण करा दिया। इसके अलाव जम्मू कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाना भी बीजेपी के लिए इस चुनाव में एक अहम मुद्दा है। अगर पूरा समीकरण समझे तो बीजेपी के संकल्प पत्र पर जनता भरोसा जता सकती है और इसी का फायदा आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिल सकता है।

क्या बीजेपी के लिए 2029 तक रास्ता साफ?

कई राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि बीजेपी फिर एक बार केंद्र में अपनी सरकार बना सकती है, हालांकि यह अभी एक अनुमान है। विशेषज्ञों का मानना है कि मोदी द्वारा जनता से किए गए वादों का पूरा करना एक बड़ा कारण हो सकता है।
चाहे वह तीन तलाक हो, राम मंदिर बनवाना, देशभर में सीएए लागू करना, जम्मू कश्मीर में आर्टिकल-370 हटाना जैसे कई महत्वपूर्ण वादे शामिल है। हालांकि यह तो 4 जून को ही साफ होगा कि क्या बीजेपी तीसरी बार केंद्र की सत्ता पर काबिज होती है या फिर विपक्ष मारेगा बाजी।

राहुल गांधी ने बीजेपी के घोषणा पत्र पर कसा तंज

बता दें कि बीजेपी के संकल्प पत्र राहुल गांधी ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर तंज कसते हुए लिखा “भाजपा के मेनिफेस्टो और नरेंद्र मोदी के भाषण से दो शब्द गायब हैं – महंगाई और बेरोज़गारी। लोगों के जीवन से जुड़े सबसे अहम मुद्दों पर भाजपा चर्चा तक नहीं करना चाहती। INDIA का प्लान बिलकुल स्पष्ट है – 30 लाख पदों पर भर्ती और हर शिक्षित युवा को 1 लाख की पक्की नौकरी। युवा इस बार मोदी के झांसे में नहीं आने वाला, अब वो कांग्रेस का हाथ मज़बूत कर देश में ‘रोज़गार क्रांति’ लाएगा”।

Latest stories