शनिवार, मई 25, 2024
होमबिज़नेसMoneyCredit Card Fraud Alert: सावधान! अपनी खून पसीने की कमाई को डूबने...

Credit Card Fraud Alert: सावधान! अपनी खून पसीने की कमाई को डूबने से बचाएं, जानें क्रेडिट कार्ड फ्रॉड से बचने के कुछ बेहतरीन टिप्स

Date:

Related stories

Credit Card Fraud Alert: आजकल क्रेडिट का चलन तेजी से बढ़ रहा है। लोग इसका इस्तेमाल कर घर बैठे आसानी से शॉपिंग या अन्य तरह की सुविधा प्राप्त करते है। लेकिन इसमे धोखाधड़ी होने की भी काफी संभावना होती है। आज हम इसी पर ही चर्चा करेंगे की आप कैसे क्रेडिट कार्ड फ्राड से बच सकते है।

Credit Card Fraud Alert क्या है?

क्रेडिट कार्ड धोखाधड़ी मुख्य रूप से भुगतान करने और धन हस्तांतरित करने के लिए इंटरनेट के उपयोग के कारण होती है। कोविड-19 महामारी के बाद ऑनलाइन मनी ट्रांसफर का चलन तेजी से बढ़ा है, जिसके कारण क्रेडिट कार्ड के उपयोग में वृद्धि हुई और इस प्रकार, ऑनलाइन (Credit Card Fraud Alert) से धोखाधड़ी हुई। इससे कार्डधारक और बैंक दोनों के लिए अवांछित समस्याएं पैदा होती हैं। एक बार पैसा खो जाने पर धोखेबाज के पकड़े जाने पर भी उसे वापस नहीं पाया जा सकता।

कितने प्रकार के क्रेडिट कार्ड फ्रॉड होते है?

फाइल फोटो प्रतिकात्मक

●कार्ड चोरी करना – यह क्रेडिट कार्ड धोखाधड़ी लेनदेन करने का एक मानक तरीका है जहां जालसाज को कार्ड पर कब्ज़ा मिल जाता है और वह सीधे इसका दुरुपयोग कर सकता है।

●ईमेल खातों को हैक करना – हैकर्स ईमेल खातों को हैक करने के लिए प्रोग्राम या सॉफ़्टवेयर तैयार करते हैं क्योंकि बैंक ग्राहकों को खाते की जानकारी के साथ ईमेल भेजते हैं।

●कार्डधारक को कॉल करके विवरण प्राप्त करें – कभी-कभी धोखेबाज ग्राहकों को कॉल करते हैं, उन्हें उपहार या सुविधाओं का लालच देते हैं और उन्हें क्रेडिट कार्ड की जानकारी प्रकट करने के लिए मनाते हैं।

●बैंक खाते तक पहुंच प्राप्त करें- कभी-कभी, बैंक खाते तक पहुंच प्राप्त करना संभव होता है यदि जालसाज वह व्यक्ति हो जिसे खाताधारक जानता हो और उस पर भरोसा करता हो।

●दान अनुरोध – Credit Card Fraud Alert में कार्डधारकों को अक्सर जरूरतमंद लोगों को बचाने के लिए वित्तीय मदद मांगने के लिए फोन आते हैं। ऐसे मामलों में पैसे ट्रांसफर करने से पहले कॉल करने वाले की पुष्टि करना जरूरी है।

क्रेडिट कार्ड में धोखाधड़ी का पता कैसे लगाएं?

Credit Card Fraud Alert को जांचने के लिए जल्द से जल्द पकड़ने के लिए बैंक स्टेटमेंट और मोबाइल संदेशों की बार-बार जांच करना आवश्यक है।

कार्डधारकों को मिलने वाले बिलों और चालानों की जांच करनी चाहिए ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उन्होंने वह लेनदेन किया है जिसके लिए वे भुगतान कर रहे हैं।

यदि व्यक्ति नियमित कार्ड उपयोगकर्ता है तो क्रेडिट स्कोर को ट्रैक करना आवश्यक है। संघीय कानून हर साल एक निःशुल्क क्रेडिट जांच रिपोर्ट की सुविधा देता है।

खाताधारकों को भुगतान करने से पहले नकली पुरस्कारों और धन हस्तांतरण से संबंधित जानकारी को सत्यापित करना चाहिए।

इन तरीकों से क्रेडिट कार्ड फ्रॉड को रोका जा सकता है

●लॉगिन विवरण की सुरक्षा – व्यक्तियों को कभी भी अपना लॉगिन विवरण किसी को नहीं बताना चाहिए या उन्हें ऐसी जगहों पर नहीं लिखना चाहिए जो आसानी से पहुंच योग्य हों।

●भुगतान करते समय जल्दबाजी न करें – ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के दौरान सावधानी बरतना और समय लेना बेहतर है।

●अलग-अलग भुगतान के लिए अलग-अलग खातों का उपयोग करना – ऑनलाइन भुगतान या पैसे ट्रांसफर करने के लिए अन्य कार्ड या अलग-अलग खातों का उपयोग करना एक अच्छा विचार है।

●स्थानांतरण सीमा निर्धारित करें – खाते में स्थानांतरण सीमा का चयन करना हमेशा सर्वोत्तम होता है ताकि यदि धोखेबाज बड़ी राशि स्थानांतरित करने का प्रयास करें, तो वह अवरुद्ध हो जाए।

Latest stories