सोमवार, अप्रैल 15, 2024
होमबिज़नेसMutual Funds: सेविंग अकाउंट के बजाय म्यूचुअल फंड में निवेश ग्राहकों की...

Mutual Funds: सेविंग अकाउंट के बजाय म्यूचुअल फंड में निवेश ग्राहकों की पहली प्राथमिकता, बैंकिंग सचिव ने जताई चिंता

Date:

Related stories

Mutual Funds: बैंकिंग सचिव विवेक जोशी ने CNBC-TV18 से बातचीत करते हुए बताया कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक निजी बैंकों की तुलना में अधिक तेजी से बचत खाते खो रहे हैं, Mutual Funds में पैसा प्रवाहित हो रहा है, यह बैंकिंग क्षेत्र के लिए एक चिंता और चुनौती है। उन्होंने कहा कि सरकारी स्वामित्व वाले बैंकों का शुद्ध ब्याज मार्जिन भी दबाव में है।

Mutual Funds: सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के लिए चिंता का विषय

Mutual Funds
Vivek Joshi

विवेक जोशी ने कहा कि चालू खाता और बचत खाता(CASA) की बढ़ोतरी सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों के लिए चिंता का कारण है।(Mutual Funds) जमा वृद्धि दर लगभग 13% है, जबकि पीएसबी में अग्रिम वृद्धि दर लगभग 16% है। और अधिकांश वर्षों से यही स्थिति रही है। यदि आप पीएसबी के प्रदर्शन को देखें, तो उनका CASA प्रभावित हो रहा है। इसलिए यह न केवल सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के लिए बल्कि संपूर्ण बैंकिंग प्रणाली के लिए भी चिंता का कारण है।

उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि इसका कारण यह हो सकता है कि लोग अपनी बचत को बैंकों से हटाकर शायद म्यूचुअल फंड(Mutual Funds) आदि में स्थानांतरित कर रहे हैं। इसलिए यह आने वाले दिनों या आने वाली तिमाहियों में बैंकों के लिए सबसे बड़ी चुनौती है जो मुझे लगता है।

Mutual Funds: वित्तीय समावेशन योजनाएं मेरी पहली प्राथमिकता

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में, डीएफएस के लिए एक हिस्सा बहुत महत्वपूर्ण है और वह है वित्तीय समावेशन योजनाएं। जैसे- प्रधान मंत्री जन धन योजना, प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना, जीवन, ज्योति योजना आदि। फिर दो सबसे महत्वपूर्ण योजनाएं हैं सरकार द्वारा हाल ही में शुरू की गई पीएम स्वनिधि योजना है, जिसमें हम पहले ही 76 लाख स्ट्रीट वेंडरों को कवर कर चुके हैं। और फिर कारीगरों के लिए पीएम विश्वकर्मा नामक एक और नई योजना है। इसलिए आने वाले महीनों में ये मेरी तत्काल प्राथमिकताएं होंगी।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Latest stories