Hartalika Teej 2023: इस हरतालिका तीज पर मिलेगा सौभाग्य का वरदान, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा की विधि

Hartalika Teej 2023: हरतालिका तीज हर सुहागन स्त्रियों के लिए विशेष तौर पर महत्व रखता है, यह त्यौहार हर साल भाद्रपद माह की तृतीया तिथि को बड़े आस्था और भक्ति प्रेम के साथ मनाया जाता है. इस बार यह पावन पर्व 18 सितंबर 2023 को मनाया जाने वाला है जिसके लिए तैयारियां जोरो पर हैं. बता दें कि इस दिन सुहागन महिलाएं और वो लड़कियां जिनका विवाह होने जा रहा है पूरा दिन निर्जला उपवास रखती हैं. यह व्रत 24 घंटे की कठिन तपस्या के बाद खत्म होता है ऐसे में इस पर्व के महत्व और शुभ मुहूर्त से जुड़ी सभी जानकारियां देने जा रहे हैं.

बता दें कि इस साल हरतालिका व्रत कई मायनों में खास रहने वाला है, इस बार बनने वाले अद्भुद संयोग के चलते हरतालिका का महत्व और भी ज्यादा बढ़ गया है. हरतालिका व्रत का इस बार का शुभ मुहूर्त इस प्रकार से है.

  • हरतालिका तीज का शुभ मुहूर्त – सुबह 06.07 से सुबह 08.34 (18 सितंबर 2023) तक
  • साय काल का मुहूर्त – शाम 06.23 से 06.47 तक

इस हरतालिका है विशेष संयोग

इस बार का हरतालिका तीज का कल्याणकारी व्रत सोमवार को पड़ रहा है, ऐसे में इसका महत्व कई गुना ज्यादा हो गया है. यह दिन भगवान भोले शंकर को बेहद प्रिय है इसलिए शिव भक्ती में लीन होकर आप माता गौरी की उपासना कर सकते हैं. इस दिन किया गया जप और तप खाली नहीं जाता जिसके चलते यह आपको सौभाग्य का वरदान देकर सभी मनोकामनाओं को भी पूरा करेगा.

क्या है हरतालिका के पीछे की मान्यता

प्रचलित धर्म ग्रंथों और पौराणिक कथाओं के अनुसार माता पार्वती शुरू से ही भगवान शिव की अपने पति के तौर पर पूजा करती थी, मगर उन्हें जल्द ही इस बात का अंदाजा लग गया था कि शिव को पाने के लिए इतना भर काफी नहीं होगा इसलिए उन्होंने जंगल में जाकर कठिन जप तप और योग का सहारा लिया. अंत में भगवान शंकर माता की तपस्या से प्रसन्न हुए और उन्हें अपनी अर्धंगिनी के रूप में स्वीकार किया. तभी से यह परंपरा चलती आ रही है.  

Disclaimer – DNP INDIA हिंदी वेबसाइट अपने आलेख के माध्‍यम से किसी भी प्रकार के अंधविश्‍वास, अज्ञानता को बढ़ावा नहीं देता है। यहां सपनों से संबंधित किसी भी आर्टिकल में हम पाठकों की रुचि, जिज्ञासा को ध्‍यान में रखकर विभिन्‍न शास्‍त्रों, धर्मग्रंथों, मान्‍यताओं समेत कई अन्‍य माध्‍यमों से उपरोक्‍त जानकारी एकत्रित करके एवं आधारित सवाल-जवाब को प्रस्‍तुत कर रहे हैं। इसके पीछे उद्देश्य केवल सूचना प्रदान करना है। किसी भी रूप में इसकी सत्यता एवं सटीकता की हम पुष्टि नहीं करते हैं और न ही इसके प्रमाणिक होने की बात कहते हैं

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमाराYouTube Channel ‘DNP INDIA’को अभी subscribe करें। आप हमेंFACEBOOKINSTAGRAMऔरTWITTERपर भी फॉलो कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

Related Articles