रविवार, मई 26, 2024
होमहेल्थकैंसर के खिलाफ जंग में Tata के वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता,...

कैंसर के खिलाफ जंग में Tata के वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, मात्र 100 रुपये में दवा होगी उपलब्ध

Date:

Related stories

Prostate Cancer: क्या है प्रोस्टेट कैंसर? इसके लक्षण, कारण और बचाव की पूरी डिटेल

Prostate Cancer: प्रोस्टेट कैंसर पुरुषों में होने वाला एक...

Cancer Breakthrough News: यह सच है कि कैंसर एक लाइलाज बीमारी है और हर 10 मरीज में से 5 की मौत हो जाती है। खुशकिस्मत लोग इस बीमारी से जंग जीतने में कामयाब हो पाते हैं और इसकी ट्रीटमेंट के लिए डॉक्टर भी कोई गारंटी नहीं लेते हैं। सालों से कैंसर से पूरी दुनिया जूझ रही है और निश्चित तौर पर अमेरिका और चीन के बाद भारत भी इस लिस्ट में शामिल है। वहीं अब टाटा अस्पताल के डॉक्टरों ने कैंसर पर एक शोध किया और एक ऐसी टैबलेट बना रहे हैं जो कैंसर की रोकथाम में मदद कर सकती है। लेकिन यह दूसरी बार कैंसर होने पर कारगर साबित होगी।

Cancer Breakthrough News दवाई से दोबारा नहीं होगा कैंसर

Cancer Breakthrough News की बात करें तो डॉक्टरों के द्वारा बनाई गई दवाई से दोबारा कैंसर नहीं होगा और रेडिएशन के साइड इफेक्ट भी कम होंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस शोध के लिए चूहों में मनुष्य के कैंसर सेल डाले गए थे जिसके बाद उनमें ट्यूमर उम्र विकसित हुआ। वहीं रेडिएशन थेरेपी, कीमोथेरेपी और सर्जरी के जरिए उनका इलाज भी किया गया और ऐसे में पाया गया कि जब कैंसर सेल्स मर जाती है तो वह बहुत छोटे-छोटे टुकड़ों में टूटती है जिसे क्रोमीटिन कहा जाता है। यह क्रोमीटिन जब हमारे शरीर के अन्य हिस्सों में जाते हैं तो स्वस्थ कोशिकाओं को कैंसर सेल में बदल देते हैं। ऐसे में यह संभव है कि दोबारा भी कैंसर हो जाए।

Cancer Breakthrough News चूहों पर किया गया इस्तेमाल

ऐसे में डॉक्टरों ने चूहों को रेसवेरेट्रॉल और कंबाइंड प्रो- ओक्सीडेंट टैबलेट दिए जो क्रोमेटिन को शरीर में रोकने में फायदेमंद साबित हुए। कहा जा रहा है कि लगभग एक दशक से इस टैबलेट पर काम किया जा रहा था और आखिरकार सफलता मिल गई। वहीं फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ने इस टैबलेट को मंजूरी दे दी है। टाटा मेमोरियल अस्पताल के वरिष्ठ कैंसर सर्जन इस बात की जानकारी दी कि यह दवाई महज 100 रुपए में उपलब्ध है। यह कैंसर के लिए अब तक का सबसे सस्ता इलाज साबित होगा।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।   

Anjali Wala
Anjali Walahttp://www.dnpindiahindi.in
अंजलि वाला पिछले कुछ सालों से पत्रकारिता में हैं। साल 2019 में उन्होंने मीडिया जगत में कदम रखा। फिलहाल, अंजलि DNP India वेब साइट में बतौर Sub Editor काम कर रही हैं। उन्होंने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से हिंदी पत्रकारिता में मास्टर्स किया है।

Latest stories