- विज्ञापन -

Latest Posts

Basant Panchami 2023: सरकारी नौकरी की कर रहे हैं तैयारी तो इस तरह करें मां सरस्वती की आराधना, हर क्षेत्र में मिलेगी सफलता

Basant Panchami 2023: हिंदू धर्म में हर दिन का विशेष महत्व है। वहीं सभी छात्रों के जीवन में बसंत पंचमी का त्योहार खुशियों का सौगात लेकर आता है। ये दिन सभी लोगों के लिए बेहद खास होता है। इस दिन मां सरस्वती की आराधना की जाती है।

वहीं मान्यताओं के अनुसार, सरस्वती पूजा का त्योहार हर साल माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है। इस दिन सभी लोग मां सरस्वती की आराधना में लीन रहते हैं। इस वर्ष ये त्योहार 26 जनवरी के दिन मनाया जाएगा। ये दिन सभी के लिए बेहद खास होता है। कहते हैं, जितने भी लोग आध्यात्म से जुड़े हैं उन सभी को इस दिन मां की पूजा अर्चना करनी चाहिए।

इस दिन मां की पूजा करने से भक्तों को मां सरस्वती विद्या और बुद्धि का आशीर्वाद देती हैं। वहीं जितने भी लोग नौकरी पाने की तैयारी में लगे हैं, उन्हें निश्चित रूप से इस दिन मां सरस्वती की पूजा-अर्चना करनी चाहिए। कहते हैं, इस दिन मां की पूजा-अर्चना करने से मां सभी को मनचाहा वरदान देती हैं। तो आइए जानते हैं, मां सरस्वती की कृपा पाने के लिए मां की कैसे आराधना करें।

ऐसे करें मां सरस्वती की पूजा

बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा पूरे मन से की जाती है। इस दिन सभी छात्रों को मां की पूजा निश्चित रूप से करनी चाहिए। इस दिन मां सभी भक्तों को विद्या-बुद्धि का आशीर्वाद देती हैं। मान्यताओं के अनुसार, इस दिन सभी छात्रों को पूजा उत्तर-पूर्व दिशा में मां की प्रतिमा को रखकर करनी चाहिए। वहीं इस दिन छात्रों को सफेद या पीले रंग का वस्त्र धारण करना चाहिए। ये बेहद शुभ माना जाता है।

ये भी पढ़ें: BASANT PANCHAMI 2023 पर इन 5 जातकों की खुलने वाली है किस्मत, मां सरस्वती देंगी धन-दौलत और विद्या का आशीर्वाद

अपने कॉपी किताब की भी करें पूजा

मान्यताओं के अनुसार, बसंत पंचमी के दिन अपने कॉपी किताब एवं कलम की पूजा करनी चाहिए। इस दिन पढ़ाई से जुड़ी सभी चीजों की पूजा की जाती है। इससे भक्तों को विद्या और बुद्धि का आशीर्वाद मिलता है।

इस शुभ मुहूर्त में करें आराधना

हिंदी पंचांग के अनुसार 25 जनवरी की दोपहर 12 बजकर 33 मिनट से तिथि की शुरुआत हो रही है। वहीं तिथि का समापन 26 जनवरी 2023 की सुबह 10 बजकर 37 मिनट पर होगा। हिंदू धर्म में उदय तिथि का महत्व है। इसलिए 26 जनवरी के ही दिन बंसंत पंचमी का त्योहार मनाया जाएगा। वहीं सिद्ध योग की शुरुआत 26 जनवरी दोपहर 3 बजकर 30 मिनट से होने वाली है। इस योग में पूजा अर्चना करने से मां सरस्वती प्रसन्न हो जाती हैं और भक्तों पर अपनी कृपा बरसाती हैं।

ये भी पढ़ें: WINTER HEALTH TIPS: इस सुपर हेल्दी फ्रूट में है पौष्टिक तत्वों का खजाना, डाइट में शामिल कर मिलेंगे गजब के फायदे

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो पर सकते हैं

Latest Posts

देश

बिज़नेस

टेक

ऑटो

खेल