New Parliament Building
New Parliament Building

New Parliament Building: 28 मई को नए संसद भवन का उद्घाटन होना है। लेकिन उससे पहले ही नई संसद की पलही झलक सामने आ गई है। समाचार एजेंसी एएनआई ने नए संसद भवन का एक वीडियो ट्वीट किया है। वीडियो में संसद के अंदर के लुक को भी देखा जा सकता है। वीडियो में दिख रहा है कि नई संसद कितनी भव्य और विशाल है। इसे देखकर आप भी कहने पर मजबूर हो जाएंगे वाह क्या बात है! वीडियो में अशोक स्तंभ से लेकर सांसदों के बैठने वाला कक्ष भी दिखाया गया है।

28 मई को होगा नई संसद का उद्घाटन

बता दें कि आगामी 28 मई को देश की नई संसद का उद्घाटन होना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विधिवत रूप से इसका उद्घाटन करेंगे और इसे राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इसके उद्घाटन के लिए देश भर के विभिन्न नेताओं को निमंत्रण भेजा गया है, जिनमें लोकसभा और राज्यसभा के पूर्व अध्यक्ष और सभापति शामिल हैं। दोनों सदनों के सांसदों को भी निमंत्रण भेजा गया है।

नई संसद में होंगी ये खूबिया

नए संसद भवन में लोकसभा की थीम मयूर पक्षी के आधार पर बनाई गई है, जबकि राज्यसभा को कमल थीम से बनाया गया है। नई में लोकसभा में 888 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था है, जबकि राज्यसभा में 374 सदस्यों के बैठ सकते हैं। संयुक्त सत्र के दौरान लोकसभा को 1240 सीटों तक बढ़ाया जा सकता है। नई संसद चार मंजिला इमारत है। इसमें एक केंद्रीय कक्ष समेत लॉज, मीटिंग हॉल समेत कई अन्य सुविधाएं भी हैं। नई संसद पूरी तरह डिजिटल होगी। लोकसभा और राज्यसभा में सांसदों की चेयर के आगे कंप्यूटर स्क्रीन लगाई गई हैं।

ये भी पढे़ं: Rahul Gandhi Passport मामले पर आया कोर्ट का फैसला, जानें 10 की जगह 3 साल के लिए क्यों मिली NOC ?

19 पार्टियों ने किया उद्घाटन का बहिष्कार

नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह में विपक्ष का लगभग शून्य प्रतिनिधित्व होगा। 19 पार्टियों ने घोषणा की है कि वे उद्घाटन का बहिष्कार करेंगे। विपक्षी दलों ने एक बयान जारी कर कहा कि, “प्रधानमंत्री मोदी द्वारा नए संसद भवन का उद्घाटन करने का निर्णय, राष्ट्रपति मुर्मू को पूरी तरह से दरकिनार करना, न केवल घोर अपमान है, बल्कि हमारे लोकतंत्र पर सीधा हमला है। यह अशोभनीय कार्य राष्ट्रपति के उच्च कार्यालय का अपमान करता है।”

शुरू से विवादों में रहा नई संसद का निमाण

बता दें कि नई संसद भवन का निर्माण कार्य सितंबर 2020 में शुरू हुआ था। नई संसद का निर्माण कार्य शुरू से विवादों में रहा है। सेंट्रल विस्टा प्रोग्राम के तहत हुए निर्माण कार्य पर कोरोना काल में नई संसद के निर्माण पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी।

SC ने याचिकाकर्ता पर लगाया था 1 लाख का जुर्माना

उस समय सुप्रीम कोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए याचिकाकर्ता पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था। कांग्रेस ने नई संसद के निर्माण पर यह कहकर विरोध जताया कि यह फिजूलखर्ची है। कोरोना काल में लोगों की जान बचाने की जगह मोदी सरकार सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर 20 हजार करोड़ रुपये खर्च कर रही है।

ये भी पढ़ें: New Parliament Building: नए संसद भवन के उद्घाटन वाली याचिका खारिज, SC ने जमकर लगाई फटकार, कहा- अगली बार जुर्माना लगेगा

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

बृजेश बीते 4 सालों से पत्रकारिता के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं। इन्होंने हिमाचल...