रविवार, जून 23, 2024
होमस्पोर्ट्सSudhir Naik: भारत का ये पूर्व क्रिकेटर गिरने की वजह से गंभीर...

Sudhir Naik: भारत का ये पूर्व क्रिकेटर गिरने की वजह से गंभीर रूप से हुआ घायल, अस्पताल में लड़ रहा ज़िंदगी और मौत की जंग

Date:

Related stories

Meerut News: समाज के खिलाफ लड़ते हुए मेरठ की बेटी ने चीन में लहराया भारत का परचम, जानें किरण बालियान के कामयाबी की कहानी

Meerut News: एशियन गेम्स में भारत का खाता खोलने वाली गोला फेंक एथलीट किरण बालियान के सफलता की कहानी दिलचस्प है।

Sudhir Naik: एक साहसी दाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज, सुधीर नाइक ने 70 के दशक में भारत के लिए तीन टेस्ट और एक एकदिवसीय मैच खेला। उन्होंने महान बल्लेबाज़ सुनील गावस्कर के साथ टीम इंडिया के इतिहास के पहले एकदिवसीय मैच में ओपनिंग की। उस मैच में, नाइक ने एक बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल की। उन्होंने वनडे क्रिकेट में टीम इंडिया के लिए पहला चौका लगाया।

अपने घर में ही दुर्घटना का शिकार हुए सुधीर नाइक

सुधीर नाइक को 26 मार्च को मुंबई में अपने आवास पर गिरने के बाद हिंदुजा अस्पताल में आईसीयू में भर्ती कराया गया था। 78 वर्षीय सुधीर नाइक अभी बेहोश है और ज़िंदगी और मौत से जूझ रहे है। एजबेस्टन में अपने टेस्ट डेब्यू पर, उन्होंने दूसरी पारी में शानदार 77 रनों की पारी खेली बनाए, लेकिन इसके बाद भी टीम इंडिया पारी और 78 रनों से मैच हार गई। इंग्लैंड की टीम ने इस सीरीज को 3-0 से क्लीन स्वीप करके जीत लिया। इसके बाद वे वेस्टइंडीज के खिलाफ दो और टेस्ट मैच खेलने गए।

Also Read: IPL 2023 शुरू होने से पहले इस खिलाड़ी ने कर दी भविष्यवाणी, बोले – ‘प्लेऑफ तक नहीं जाएगी LSG’

ऐसा रहा सुधीर नाइक का क्रिकेट करियर

इंडियन नेशनल टीम के लिए सुधीर नाइक 3 टेस्ट मैच खेले और 141 रन। सुधीर नाइक के समय में वनडे क्रिकेट नया शुरू हुआ था। यही वजह है कि वे मात्र दो वनडे मैच ही खेल सके। इन दो मैचों में मिलाकर उन्होंने कुल 38 रन बनाए। नाइक ने लगभग 30 वर्षों तक वानखेड़े क्रिकेट मैदान में पिच सलाहकार के रूप में भी काम किया। लेकिन बाद में 2016 में उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी। बंबई के लिए रणजी ट्रॉफी में, नाइक ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया और उन्होंने 1973-74 सीज़न में बड़ौदा के खिलाफ नाबाद 200 के उच्चतम स्कोर के साथ 40.10 के औसत के साथ 2687 रन बनाए। लेकिन सुधीर नाइक की सबसे बड़ी उपलब्धि तब थी जब उनके नेतृत्व में बॉम्बे ने 1970-71 में भारत की सबसे प्रतिष्ठित घरेलू क्रिकेट ट्रॉफी जीती थी।

Sriya Sri
Sriya Srihttps://www.dnpindiahindi.in/
मेरा नाम श्रीया श्री है। मैं पत्रकारिता अंतिम वर्ष की छात्रा हूं। मुझे लिखना बेहद पसंद है। फिलहाल मैं डीएनपी न्यूज नेटवर्क में कंटेंट राइटर हूं। मुझे स्वास्थ्य से जुड़ी कई चीजों के बारे में पता है और इसलिए मैं हेल्थ पर आर्टिकल्स लिखती हूं। इसके अलावा मैं धर्म, लाइफस्टाइल, एस्ट्रोलॉजी और एजुकेशन के विषय में भी आर्टिकल लिखती हूं।

Latest stories