गुरूवार, मई 23, 2024
होमदेश & राज्यऐसे संस्थापक जिन्हें अपनी ही कंपनी ने दिखाया बाहर का रास्ता, यहां...

ऐसे संस्थापक जिन्हें अपनी ही कंपनी ने दिखाया बाहर का रास्ता, यहां देखें डिटेल

Date:

Related stories

Byju Raveendran: स्टार्टअप करने वाले कई ऐसे फाउंडर हुए है, जिन्हें कंपनी से निकाल दिया गया। बता दें कि हाल ही में बायजू के इन्वेस्टर्स ने कंपनी के को फाउडंर Byju Raveendran, उनकी पत्नी गोकुलनाथ और भाई रिजू रवींद्रन को बोर्ड से बाहर का रास्ता दिखा दिया है, चलिए आज हम आपको बताते है कुछ ऐसे फाउंडर्स के बारे में जिन्होंने कंपनी का टर्नओवर अरबो रूपये में पहुंचाया। लेकिन बाद में शेयरहोल्डर्स ने कंपनी से बाहर निकाल दिया।

बिन्नी बंसल और सचिन बंसल

सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने 2007 में फ्लिपकार्ट की स्थापना की थी। दोनों दिल्ली आईआईटी से पढ़ाई करने के बाद और अमेजन में काम करने के बाद फ्लिपकार्ट की शुरूआत की थी। वॉलमार्ट द्वारा फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण करने के बाद, दोनों संस्थापक, पहले सचिन बंसल निवेशकों के साथ विवाद के बाद 2018 में बोर्ड से चले गए, और बाद में बिन्नी बंसल ने भी आधिकारिक तौर पर ई-कॉमर्स दिग्गज के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया।

Byju Raveendran

बायजू के अधिकांश शेयरधारकों ने कथित “कुप्रबंधन और विफलताओं” को लेकर संस्थापक सीईओ बायजू रवींद्रन और उनके परिवार को बोर्ड से हटाने के लिए सर्वसम्मति से मतदान किया। हालांकि कंपनी ने प्रस्तावों को खारिज दिया और इसे अमान्य और अप्रभावी कहा।

Ashneer Grover

Ashneer Grover
Ashneer Grover

फिनटेक कंपनी भारत पे के को फाउंडर और शार्क टैंक के पूर्व जज अशनीर ग्रोवर ने कंपनी को शीर्ष उंचाईयों पर पहुंचाया था। बता दें कि Ashneer Grover को भारत पे से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। गौरतलब है कि Ashneer Grover को कंपनी के खिलाफ दायर मध्यस्थता में हारने के बाद कंपनी बोर्ड की सदस्यता छोड़नी पड़ी थी। वहीं उनकी पत्नी को भी कंपनी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था।

स्टीव जॉब्स

निदेशक मंडल के साथ सत्ता की लड़ाई के बाद, Apple के सह-संस्थापक, स्टीव जॉब्स को 1985 में कंपनी से निकाल दिया गया था। बता दें कि स्टीव जॉब्स, स्टीव वोजनियाक और रोनाल्ड वेन ने मिलकर इस कंपनी की शुरूआत की थी। गौरतलब है कि 1 अप्रैल 1976 को इस कंपनी की स्थापना की गई थी।

राहुल यादव

हाउसिंग डॉट कॉम (Housing.com) के फाउंडर राहुल यादव को भी कंपनी ने बाहर का रास्था दिखाया था। साल 2012 में आईआईटी से निकलने के बाद ही उन्होंने कंपनी की स्थापना की थी।

Latest stories