मंगलवार, मई 28, 2024
होमविडियोIND vs AUS: बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में कमबैक कर रहे Ravindra Jadeja ने...

IND vs AUS: बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में कमबैक कर रहे Ravindra Jadeja ने सुनाई अपनी दर्द भरी दास्तां, ‘अरे यार, काश मैं वहां होता’

Date:

Related stories

अस्ट्रेलिया के खिलाफ Ishan Kishan की धाकड़ पारी, तोड़ा कैप्टन कूल माही और ऋषभ पंत का ये रिकॉर्ड

IND Vs Australia 2nd T20: भारत और अस्ट्रेलिया के बीच बीते दिन टी20 सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला गया। इस कड़े मुकाबले ने भारत ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए कंगारु टीम को 44 रनों से हरा दिया।

IND vs AUS: टीम इंडिया के बेहतरीन ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) टीम इंडिया से सितंबर 2022 से चोट के चलते बाहर चल रहे थे। लेकिन अब वह पूरी तरह फिट हैं और 9 फरवरी से होने वाले इंडिया और ऑस्ट्रेलिया (IND vs AUS) के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज में खेलते हुए नजर आएंगे। रविंद्र जडेजा ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से पहले रणजी ट्रॉफी में एक मुकाबला भी खेला और वह अब पूरी तरह फिट हैं। वहीं, सीरीज शुरू होने से पहले उन्होंने चोट से लेकर फिट होने की कहानी अपने जुबानी सुनाई है। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

BCCI ने शेयर किया वीडियो

टीम इंडिया के शानदार ऑलराउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा एशिया कप 2022 के दौरान चोटिल हुए थे और उनकी चोट काफी ज़्यादा थी जिसकी वजह से उन्हें टी20 वर्ल्ड कप 2022 से भी बाहर होने पड़ा। जिसे लेकर जडेजा काफी उदास हैं थे और उन्होंने वीडियो में वर्ल्ड कप में ना खेल पाने को लेकर कहते हैं कि, ‘जब मैं टीवी पर मैच देखता था तो मेरे दिमाग में चोटिल होने के कारण नहीं खेलने का मलाल रहता था। जब मैं विश्व कप देख रहा था, तो मैं चाहता था कि मैं भी वहां रहूं।

Also Read: WI VS ZIM: कैरेबियाई सलामी बल्लेबाजों ने मचाया बल्ले से कोहराम, रिकॉर्ड साझेदारी करते हुए 21वीं सदी में रच दिया इतिहास

यहां देखें वीडियो:

आसान नहीं रहा कमबैक- जडेजा

BCCI टीवी से बात करते हुए उन्होंने अपने चोट के बाद वापसी को लेकर भी कुछ बड़ी बातें कही और उन्होंने वीडियो में कहा कि, ‘“एनसीए में फिजियो और प्रशिक्षकों ने मेरे घुटने पर काफी मेहनत की। उन्होंने मुझे इतना समय दिया और भले ही एनसीए में रविवार को छुट्टी हो, वे विशेष रूप से मेरे लिए आएं। उन्होंने मुझ पर बहुत काम किया है। जैसे, दो, तीन हफ्ते मैं बैंगलोर में रहा करता था, फिर मैं अपने दिमाग को तरोताजा करने के लिए घर वापस चला जाता था।” उन्होंने आगे कहा कि, ‘मुझे जितना संभव हो सके बैंगलोर में रहना था ताकि यह मेरे तेजी से ठीक होने में मेरी मदद करे। लेकिन चोट के दो महीने बाद बहुत कठिन था क्योंकि मैं चलने या कहीं जाने में सक्षम नहीं था। इसलिए, वह समय बहुत महत्वपूर्ण था और इस दौर में, मेरे दोस्त और परिवार हमेशा मेरे साथ थे।’

Also Read: IND VS AUS: ऑस्ट्रेलिया ने की शर्मनाक हरकत, बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से पहले ट्विटर पर की सारी हदें पार! देखें VIDEO

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

Himanshu Singh
Himanshu Singhhttp://www.dnpindiahindi.in
Himanshu Singh is a content writer and journalist. He writes on multiple niches such as National, Politics and Sports.

Latest stories