- विज्ञापन -
Homeदेश & राज्यदिल्लीDelhi:इन आरोपों के चलते AAP सरकार बीजेपी नेताओं और अफसरों पर दर्ज...

Delhi:इन आरोपों के चलते AAP सरकार बीजेपी नेताओं और अफसरों पर दर्ज करेगी मुकदमा, जानिए क्या है पूरा मामला

- Advertisement -spot_img

Delhi: राजनीति में अक्सर दो विरोधी पार्टियां आपस में भिड़ती रहती हैं। एक दूसरे पर कई गंभीर आरोप भी लगाती है। इसी कड़ी में राजधानी दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने भी भारतीय जनता पार्टी के ऊपर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। बता दें कि, दिल्ली सचिवालय भवन में विशेष सचिव वाईवीवीजे राजेशखर के कार्यालय से फाइलों के चोरी के संबंध में भाजपा पर चोरी के आरोप लगाए हैं। इसी कड़ी में केजरीवाल सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि, मीडिया रिपोर्ट के जरिए संज्ञान में आया है कि दिल्ली बीजेपी के कुछ नेताओं ने दिल्ली सरकार के मंत्रियों पर सतर्कता विभाग के कब्जे से 16 मई 2023 की सुबह संवेदनशील फाइलों को लेने तक गंभीर आरोप लगाया है।

झूठ का होगा पर्दाफाश

इसी कड़ी में सौरभ भारद्वाज ने आगे कहा कि, बीजेपी नेताओं के यह आरोप पूरी तरह से झूठ है। उन्होंने कहा कि, 15 और 16 मई 2023 की रात की घटना पहले से ही सरकार के आधिकारिक रिकॉर्ड में है। 17 मई को मुख्य सचिव को सतर्कता द्वारा प्रस्तुत एक पत्र के आधार पर है जो पूरी तरह से बीजेपी नेताओं और कुछ अधिकारियों के झूठ का पर्दाफाश करता है। आपको बता दें कि, यह वही पत्र है जिसके मुताबिक अधोहस्ताक्षरी में सोचा कि यदि फाइल के कुछ कागज गुम हो जाते हैं तो यह सीबीआई मामले सहित एक गंभीर बहुत गंभीर मामला बन सकता है। ‌

ये भी पढे़ं: Rahul Gandhi Passport मामले पर आया कोर्ट का फैसला, जानें 10 की जगह 3 साल के लिए क्यों मिली NOC ?

क्या है पूरा मामला ?

ऐसे में सीबीआई द्वारा दस्तावेजों को जप्त करने की तर्ज पर एक शैडो फाइल बनाई जाती है। जिसके बाद सीवीसी के दिशा निर्देश के अनुसार दो में से एक सीबीआई को सौंपी जाती है। वही उस पत्र के अनुसार अधोहस्ताक्षरी ने पर्सनल ब्रांच के कर्मचारी मनीष और हरीश जोशी को रूम नंबर 403 से मुख्य फाइल लाने का निर्देश दिया था। परन्तु टोनर समाप्त होने के चलते कुछ फाइलों के लिए शैडो फाइल बनाई गई थी। बाकी सभी दस्तावेजों की शैडो फाइल नहीं बनाई जा सकी थी उसके बाद सभी मुख्य फाइल संबंधित कक्ष यानी 403 में रख दी गई। वही 16 मई तक मंत्री को कोई फाइल नहीं मिल गई इसमें सचिव की पर्सनल ब्रांच के कर्मचारियों की कोई गलती नहीं है क्योंकि वह सचिव के निर्देश पर काम करते हैं। इसी के साथ शैडो फाइल बनाने की उउपरोक्त घटना की सूचना अधोहस्ताक्षरी द्वारा केवल विशेष सचिव को 16 मई सुबह 8:00 बजे फोन पर दी गई।

ये भी पढ़ें: New Parliament Building: नए संसद भवन के उद्घाटन वाली याचिका खारिज, SC ने जमकर लगाई फटकार, कहा- अगली बार जुर्माना लगेगा

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -spot_img