शनिवार, मई 25, 2024
होमदेश & राज्यLok Sabha Election 2024 के लिए टीएमसी ने जारी किया घोषणा पत्र,...

Lok Sabha Election 2024 के लिए टीएमसी ने जारी किया घोषणा पत्र, सीएए, एनआरसी लागू नहीं करने का ऐलान; जानें पूरी खबर

Date:

Related stories

Delhi News: चुनावी रण के लिए तैयार है राजधानी, शराब की दुकान समेत इन प्रतिष्ठानों पर लगेगा ताला? जानें डिटेल

Delhi News: देश की राजधानी दिल्ली चुनावी रम के लिए तैयार है। बता दें कि दिल्ली की सभी 7 लोक सभा सीटों पर 25 मई यानी शनिवार को मतदान होना है।

Delhi News: मतदान बढ़ाने के लिए अनूठी पहल, दिल्ली के ये रेस्तरां वोटर्स को देंगे 25 फीसदी तक छूट; बस करना होगा ये काम

Delhi News: लोक सभा चुनाव 2024 के अलग-अलग चरणों में मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए तरह-तरह के तरकीब आजमाएं जा रहे हैं। इसी क्रम में राजधानी दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में स्थित एक रेस्तरां भी खूब सुर्खियों में है।

चुनावी मैदान में निर्दलीय ताल ठोक रहे Pawan Singh पर BJP की बड़ी कार्रवाई, जारी हुआ निष्कासन आदेश; जानें डिटेल

Pawan Singh: बीतते समय के साथ लोक सभा 2024 का चुनाव बेहद दिलचस्प होता जा रहा है। राजनीतिक पार्टियां अपने-अपने समीकरण को साध कर बड़े-बड़े दावे करती नजर आ रही हैं तो वहीं वोटर्स साइलेंट मोड में मतदान का इंतजार कर रहे हैं।

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण के मतदान में महज 2 दिन बाकी रह गए है इसी बीच टीएमसी ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए आज अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। गौरतलब है कि इससे पहले बीजेपी, कांग्रेस, आरजेडी और समाजवादी पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। मालूम हो कि इस बार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इंडिया गठबंधन के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। हालांकि ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में अकेल चुनाव लडने का फैसला किया है।

टीएमसी के घोषणा पत्र की कुछ महत्वपूर्ण बातें

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर घोषणा पत्र में 10 वादों की घोषणा की गई है। घोषणा पत्र में कहा गया है कि पश्चिम बंगाल में सीएए, एनआरसी, यूसीसी को लागू नही किया जाएगा। वहीं तृणमूल कांग्रेस ने जोर देते हुए केंद्र में इंडिया गठबंझन की सरकार बनते इन वादों को पूरा किया जाएगा।

जॉब कार्ड धारकों को 400 दैनिक वेतन के साथ 100 दिन के काम की गारंटी।

बीपीएल परिवारों के लिए 10 मुफ्त सिलेंडर दिए जाएंगे।

Latest stories