रविवार, मई 26, 2024
होमलाइफ़स्टाइलMenopause के बाद क्या खत्म हो जाती है महिलाओं की सेक्स लाइफ!...

Menopause के बाद क्या खत्म हो जाती है महिलाओं की सेक्स लाइफ! जानें सच्चाई

Date:

Related stories

Periods Problem In Summer: क्या गर्मियों में आपके पीरियड्स भी हो रहे है लेट तो, भूलकर भी इन लक्षणों को न करें इग्नोर

Periods Problem In Summer: शरीर में भरपूर मात्रा में होना चाहिए पानी । गर्मियों में हाइड्रेशन की कमी ना हो इसलिए अधिक से अधिक पानी सेवन करें।

इन कारणों से बिगड़ जाती है Periods की डेट, दूर करने के ये हैं जबरदस्त उपाय

अक्सर पीरियड के लेट आने को लोग प्रेगनेंसी से जोड़ देते हैं। लेकिन केवल प्रेगनेंसी ही पीरियड के लेट आने की वजह नहीं होती है। तो आइए आज हम आपको महिलाओं में पीरियड के लिए होने के सभी कारणों को विस्तार से बताते हैं।

Menopause: मेनोपॉज महिलाओं की जिंदगी में एक ऐसी स्थिति होती है जब वह मेंटली और फिजिकली पहले से काफी अलग हो जाती है। इस दौरान शरीर में हार्मोन में बहुत बदलाव होते हैं और कहा जाता है कि इसका असर सबसे ज्यादा उनकी सेक्स लाइफ पर पड़ता है। लेकिन कुछ शोध में यह भी कहा गया है कि कुछ बातों को ध्यान में रखकर आप अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बना सकते हैं। मेनोपॉज के बाद भी आप पहले की तरह फिजिकल लाइफ को एंजॉय कर सकते हैं।

Menopause क्या है

मेनोपॉज एक महिला के लिए काफी कठिन समय होता है जब नेचुरली उनका मासिक धर्म बंद हो जाता है। जब 12 महीने तक आपका पीरियड ना आए तो समझ ले कि वह समय आ गया है। यह बढ़ती उम्र का एक हिस्सा है जिसके कारण यौन हार्मोंस में भी गिरावट आती है। वैसे तो यह 45 से 55 वर्ष की आयु के बीच शुरू होता है लेकिन 50 तक भी यह हो सकता है। यह भी कहा जाता है कि मेनोपॉज की वजह से आपकी सेक्स लाइफ में भी काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है। ऐसे में आइए जानते हैं आखिर कैसे मेनोपॉज आपकी सेक्सुअल लाइफ को प्रभावित कर सकता है।

Menopause के बाद होते हैं ये लक्षण

डिप्रेशन- मेनोपॉज का पहला असर यह है कि यह आपकी मानसिक स्वास्थ् को प्रभावित करता है और आप डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं। ऐसे में मूड स्विंग होने लगता है और आपका सेक्सुअल लाइफ प्रभावित हो सकता है। आप इस बात को ध्यान में रखें कि आप खुद को डिप्रेश ना होने दे।

वजाइना में बदलाव- Menopause की वजह से आप में एस्ट्रोजन लेवल कम हो जाता है और वजाइना पर भी असर होने लगता है। आप शायद सेक्स लाइफ को एंजॉय ना कर सके लेकिन यह बात सच है कि अगर आप अब सेक्शुअली एक्टिव रहे तो या आपके शरीर के लिए काफी फायदेमंद है

सेक्स ड्राइव- मेनोपॉज की वजह से शरीर में हारमोंस बनने बंद हो जाते हैं और इससे सेक्स ड्राइव भी कम हो जाती है और कहीं ना कहीं आपके सेक्सुअल लाइफ को प्रभावित करती है। ऐसे में आपको विशेष ध्यान देने की जरूरत है और आप इसका उपचार भी कर सकती हैं।

वजाइना में ड्राइनेस- Menopause के दौरान इंफेक्शन का शिकार हो सकते हैं और इस खतरे को कम करने के लिए जरूरी है। जहां तक हो सके मेनोपॉज में ड्राइनेस की समस्या के ऊपर ध्यान देने की जरूरत है।

मूड स्विंग होना- मेनोपॉज के कारण आपको रात में गर्मी लगे, महिलाओं को कम नींद और चिड़चिड़ापन महसूस होता है और ऐसे में मूड स्विंग होना भी एक लक्षण है। यह संभव है कि मूड स्विंग होने की वजह से आप सेक्स में इंटरेस्ट ना दिखाएं और सेक्सुअल लाइफ पर इसका प्रभाव दिख सकता है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘DNP INDIA’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOKINSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।   

Anjali Wala
Anjali Walahttp://www.dnpindiahindi.in
अंजलि वाला पिछले कुछ सालों से पत्रकारिता में हैं। साल 2019 में उन्होंने मीडिया जगत में कदम रखा। फिलहाल, अंजलि DNP India वेब साइट में बतौर Sub Editor काम कर रही हैं। उन्होंने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से हिंदी पत्रकारिता में मास्टर्स किया है।

Latest stories